झारखंड: हाजी हुसैन अंसारी के बेटे हाफीजुल हसन को CM हेमंत सोरेन ने बनाया मंत्री

Smart News Team, Last updated: Fri, 5th Feb 2021, 2:56 PM IST
  • मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने आज अपने कैबिनेट का विस्तार किया है. राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने दिवंगत हाजी हुसैन अंसारी के बेटे हाफीजुल हसन को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई. हाफीजुल हसन ने उर्दू भाषा में शपथ ग्रहण किया.
हाफीजुल हसन ने पद और गोपनीयता की शपथ उर्दू में ली. (फोटो साभार-सोशल मीडिया)

रांची. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने अपने मंत्रिमंडल का विस्तार कर लिया है. हेमंत सोरेन मंत्रिमंडल में हाफीजुल हसन शामिल हो गए हैं. राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने हाफीजुल हसन को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई. हेमंत सोरेन की मौजूदगी में शुक्रवार को हाफीजुल हसन पद और गोपनीयता की शपथ उर्दू में ली. शपथ लेने के बाद हाफीजुल हसन ने कहा कि वह अपने पिता सपने को साकार करेंगे। झामुमो सुप्रीमो और सांसद शिबू सोरेन और मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के निर्देश और आम लोगों के हित में काम करेंगे.

इस मौके पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि जन भावना के अनुरूप हाफीजुल हसन को मंत्री बनाने का फैसला लिया गया है. यह फैसला संवैधानिक प्रावधानों के अनुरूप है. सरकार इसी तरह जन हित में काम करते रहेगी.

रांची: बिना अवकाश प्राथमिक शिक्षा निदेशक से मिलने पहुंचा सहायक शिक्षक, निलंबित

बता दें कि दिवंगत हाजी हुसैन अंसारी के बेटे हफीजुल हसन अभी कहीं से विधायक नहीं हैं. ऐसे में संवैधानिक बाध्यता के तहत उन्हें 6 माह के अंदर विधानसभा की सदस्यता ग्रहण करनी होगी. झामुमो की तरफ से मधुपुर विधानसभा उप चुनाव में उन्हें प्रत्याशी बनाया जाएगा.

दिवंगत हाजी हुसैन अंसारी के पुत्र हफीजुल मंत्री पद की शपथ लेंगे

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार हाफीजुल अपने दिवंगत पिता हाजी हुसैन अंसारी की जगह लेंगे. ऐसे में उन्हेंअल्पसंख्यक कल्याण मंत्री का पदभार दिया जा सकता है. हाजी हुसैन अंसारी हेमंत सरकार में अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री थे. वह मधुपुर से झारखंड मुक्ति मोर्चा के विधायक थे. उनका कुछ महीने पहले निधन हो गया था, इसके बाद से अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री का पद खाली चल रहा है. माना जा रहा है कि हाफीजुल हसन को अल्पसंख्यक कल्याण विभाग का मंत्री बनाकर यह खाली सीट भरा जाएगा. 

अन्य खबरें