लोध वाटरफॉल देखने पहुंचे CM हेमंत सोरेन, कहा-खनन नहीं पर्यटन को बढ़ावा देंगे

Smart News Team, Last updated: 20/11/2020 06:33 PM IST
  • झारखंड मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन नेतरहाट के तीन दिवसीय दौरे पर है. शुक्रवार को वे लोध वाटरफाॅन को देखने पहुंचे. जहां उन्होंने वाटरफाॅल को अपने कैमरे में कैद किया.
झारखंड सीएम हेमंत सोरेन लोध वाटरफाॅल देखने पहुंचे.

राँची. झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन शुक्रवार को महुआडांड़ में स्थित लोध जलप्रपात को देखने पहुंचे. मुख्यमंत्री वाटरफाॅल की खूबसूरती की देखकर मंत्रमुग्ध हो गए. सीएम हेमेंत सोरेन ने जलप्रपात की तस्वीरें ली. इस मौके पर सीएम ने कहा कि खनन नहीं पर्यटन को बढ़ावा देंगे. ये झारखंड की एक अनुपम धरोहर है. इसे पर्यटन के क्षेत्र में विकसित किया जाएगा.

लोध वाटरफाॅल देखने के बाद सीएम हेमेंत सोरेन ने ट्वीट करते हुए कहा कि झारखंड में पर्यटन की असीम संभावनाएं हैं. यहां की नैसर्गिक सुंदरता अतुलनीय है. खनन नहीं, पर्यटन की सोच के साथ हम आगे बढ़ रहे हैं. कोरोना ने इस पर ब्रेक जरूर लगाया है लेकिन हमारा लक्ष्य साफ है. उन्होंने कहा कि आज लोध जल प्रपात गया और कार्य कर रहे लोगों से मिल उनके सुझावों और समस्याओं से भी अवगत हुआ.

भारतीय रेलवे ने हल्के कोच तैयार करने का काम एचईसी को सौंपा

मुख्यमंत्री हेमंत सेारेन अपने परिवार के साथ नेतहार के तीन दिवसीय दौर पर हैं. शुक्रवार को सुबह उन्होंने नेतरहाट में जनता दरबार लगाया. जिसमें उन्होंने लोगों से बात की और समस्याओं को भी जाना. उसके बाद मुख्यमंत्री लोध वाटरफाॅल देखने पहुंचे. स्थानीय लोगों ने परंपरागत तरीके से मुख्यमंत्री हेमेंत सोरेन का स्वागत किया. मुख्यमंत्री ने यहां लोध वाटरफाॅल के खूबसूरत नजारे देखे और कैमरे में भी कैद किए.

रांची: गैंगस्टर अमन को फरार करने में शामिल दरोगा बर्खास्त, CID दाखिल करेगी चार्ज

आपको बता दें कि लोध वाटरफाॅल झारखंड के लातेहार जिले के महुआडांड़ जिले में स्थित है. ये फाॅल पूरे राज्य का सबसे ऊंचा जलप्रपात है. जिसकी ऊंचाई लगभग 143 मीटर है. जिसकी खूबसूरती को देखने के लिए साल भर टूरिस्ट यहां आते रहते हैं.

 

अन्य खबरें