जाति जनगणना, सरना कोड पर हेमंत सोरेन सर्वदलीय नेताओं के साथ अमित शाह से मिलेंगे

MRITYUNJAY CHAUDHARY, Last updated: Fri, 24th Sep 2021, 7:46 PM IST
  • मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन रविवार को गृह मंत्री अमित शाह से जाति जनगणना और सरना कोड पर सर्वदलीय नेताओं के साथ मुलाकात करेंगे. इस मुलाकात के दौरान सीएम सोरेन अमित शाह को आदिवासियों के लिए जाति जनगणना और अलग सरना धार्मिक संहिता की मांग को लेकर ज्ञापन भी सौंपेंगे.
जाति जनगणना, सरना कोड पर हेमंत सोरेन सर्वदलीय नेताओं के साथ अमित शाह से मिलेंगे

रांची. झारखंड मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन रविवार को सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल के साथ गृह मंत्री अमित शाह से मिलेंगे. अमित शाह के साथ मुलाकात कर सीएम सोरेन उन्हें जनगणना में आदिवासियों के लिए जाति जनगणना और अलग सरना धार्मिक संहिता की मांग रखते हुए उन्हें ज्ञापन सौपेंगे. सीएम सोरेन ने सात सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर इस मुद्दे पर अपनी मांग रखने की मांग किया था. सूत्रों के अनुसार उन्हें पीएम मोदी के बजाय अमित शाह के साथ मिलने के लिए कहा गया है.

अमित शाह के साथ जातीय जनगणना को लेकर होने वाली बैठक के बारे में झामुमो के प्रमुख महासचिव और प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य बताया कि गृह मंत्री अमित शाह के आवास पर रविवार शाम चार बजे बैठक तय की गई है. साथ ही बताया कि उन्होंने प्रतिनिधिमंडल में शामिल होने के लिए कांग्रेस और राजद के अलावा सभी दलों को आमंत्रित किया है. साथ ही वाम दलों और आजसू पार्टी से पुष्टि मिली है. इसके अलावा भाजपा को भी शामिल होने के लिए आमंत्रित किया है.

झारखंड सरकार गरीब मेधावी छात्रों को विदेश में पढ़ने का देगी मौका, नई योजना की शुरुआत

वहीं दूसरी तरफ झारखंड भाजपा अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने इस सप्ताह की शुरुआत में कहा था कि वे ऐसे किसी प्रतिनिधिमंडल में शामिल नहीं होंगे. इसपर भट्टाचार्य ने कहा कि सीएम हेमंत सोरेन ने शुक्रवार को इस मुद्दे पर दीपक प्रकाश से फिर से बात की है. जिनकी प्रतिक्रिया का इंतजार किया जा रहा है.

बीजेपी को छोड़कर उनकी सहयोगी आजसू पार्टी समेत सभी पार्टियों ने जाति जनगणना की मांग की है. बता दें कि जातीय जनगणना को लेकर पिछेल साल से ही मांग चल रही है. साथ ही झारखंड विधानसभा ने राष्ट्रीय जनसंख्या जनगणना 2021 में धर्म कॉलम में अलग 'सरना आदिवासी' धार्मिक कोड की मांग करते हुए एक सर्वसम्मत प्रस्ताव पारित किया था. लेकिन केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को गुरुवार को ही कहा है कि वो जाति जनगणना नहीं कराने जा रही है.

अन्य खबरें