कृषि सुधार एवं श्रम कानून के विरोध में झारखंड कांग्रेस करेगी ट्रैक्टर रैली

Smart News Team, Last updated: Sun, 8th Nov 2020, 7:42 PM IST
  • कांग्रेस पार्टी सोमवार को झारखंड में कृषि सुधार कानून एवं श्रम कानून के विरोध में ट्रैक्टर रैली का आयोजन करेगा. काग्रेस प्रदेश अध्यक्ष डॉ. रामेश्वर उरांव के नेतृत्व इस रैली का आयोजन किया जायेगा. रैली में काग्रेस पार्टी के विधायक, सांसद एवं पार्टी के वरिष्ठ नेता भी शामिल होंगे.
झारखंड काग्रेस सोमवार को कृषि सुधार कानून एवं श्रम कानून के विरोध में ट्रैक्टर रैली का आयोजन करेंगा.

झारखंड में सोमवार को केंद्र सरकार के किसान कानून के खिलाफ खेती बचाओ यात्रा और ट्रैक्टर रैली का आयोजन किया जाएगा. रविवार को कांग्रेस कार्यालय में एक महत्वपूर्ण बैठक संपन्न हुई. जिसमें कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष डॉ. रामेश्वर उरांव के नेतृत्व में किसान विरोधी कृषि कानून के विरोध में ट्रैक्टर रैली का आयोजन किया जाएगा. इसकी सफलता को लेकर को लेकर कांग्रेस भवन में बैठक आयोजित की गई.

जानकारी के अनुसार, सोमवार को सुबह 11 बजे कांग्रेस के नेता नामकुम स्थित रामपुर चौक से ट्रैक्टर पर सवार होकर खेत बचाओ यात्रा की शुरुआत करेंगे. ट्रैक्टर रैली नामकुम से कुसई कॉलोनी, डोरंडा, हिनू होते पुराना विधानसभा मैदान पहुंचेगी, जहां सभा का आयोजन किया जाएगा. बैठक के बाद प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे केंद्र सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा, कि मोदी सरकार भूमि अधिग्रहण कानून संशोधन में विफल होने के बाद अपने पूंजीपति मित्रों को लाभ पहुंचाने के लिए कृषि कानून में बड़े बदलाव किए हैं. इसका खामियाजा किसानों को भुगतना पड़ेगा. इसीलिए कांग्रेस पार्टी इस कानून के विरोध में ट्रैक्टर रैली निकलेगी.

 

रांची की मेयर आशा लकड़ा ने सरकार से 10 हजार स्ट्रीट लाइट के लिए मांगे 10 करोड़

 

प्रदेश अध्यक्ष डॉ. रामेश्वर उरांव ने कहा कि जबसे भाजपा की सरकार केंद्र में बनी है, गरीब, मजदूर व किसान दिन-प्रतिदिन पीछे होते चले जा रहे हैं. केंद्र सरकार द्वारा किसानों के विकास के लिए बेहतर कानून बनाया जाना चाहिए, लेकिन ऐसा न करके किसान विरोधी कानून लाया गया, जिससे कि किसान के द्वारा उगाए गये अनाज को भाजपा अपने पूंजीपति मित्र कम दामों पर बेच सकें. कृषि कानून वापस लेने तक कांग्रेस पार्टी किसानों के साथ मिलकर पूरे देश में आंदोलन करेगी और इसी कड़ी में कल विशाल ट्रैक्टर रैली आयोजन किया जाएगा. इस खेत बचाओ यात्रा में मंत्री, विधायक, सांसद एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता भी शामिल होंगे.

झारखंड आदिवासियों को भाने लगी गेहूं की रोटियां, धान के साथ शुरू की गेहूं की खेती

CM हेमेंत सोरेन को मिला अतिरिक्त प्रभार, मंत्री चंपई के पास अल्पसंख्यक विभाग

अन्य खबरें