झारखंड के पूर्व DGP की पत्नी फिर मुसीबत में, जमीन ट्रांसफर केस में दोबारा जांच

Smart News Team, Last updated: Thu, 5th Nov 2020, 7:58 AM IST
  • झारखंड के पूर्व डीजीपी डीके पांडेय की पत्नी पूनम पांडेय की पर फिर से शिंकजा कसा जाएगा. उनकी कांके के चामा मौजा की जमीन की फिर से जांच के आदेश दिए गए हैं.
पूर्व डीजीपी डीके पांडेय

रांची: झारखंड के पूर्व डीजीपी डीके पांडेय की पत्नी पूनम पांडेय की जमीन के हस्तांरण की जांच दुबारा होगी. गौरतलब है कि पूर्व डीजीपी की पत्नी के नाम कांके के चामा मौजा की 50 डिसमील गैर मजरूआ जमीन हस्तांरण किए जाने का मामला विवादित चल रहा है. इस मामले में दक्षिणी छोटानागपुर के आयुक्त ने जांच में कुछ गलती बताते हुए फिर से जांच के लिए अंचल कार्यालय भेज दिया गया है. जिसके बाद अब कांके के सीओ फ‌िर से जांच करेंगे.

जानकारी के मुताबिक जांच के बाद सीओ अपनी रिपोर्ट भूमि उप समहर्ता को देंगे. इसके बाद अपर समाहर्ता और उपायुक्त के मंतव्य के साथ रिपोर्ट फिर आयुक्त के पास भेजी जाएगी. आयुक्त कार्यालय ने जमीन का रिकॉर्ड और नोटिस देने की प्रक्रिया में कुछ खामियों को उजागर किया है और इसे ठीक करने को कहा है.

झारखंड सरकार का फैसला, 12 हजार कोरोना पीड़ित सेक्स वर्कर्स को मिलेगा राशन

इस मामले में रांची जिले के अपरसमाहर्ता ने बताया कि करीब दो महीने पहले ही डीसी कोर्ट से फाइल आयुक्त कार्यालय भेजी गई थी. जिसके बाद अब फाइल वापस आई है.  गलतियों को सुधारने के लिए फाइल अंचल कार्यालय भेज दी गई है. बता दें कि गलतियां सुधार कर फाइल फिर से आयुक्त कार्यालय जल्द भेज दी जाएगी.

बिहार-झारखंड समेत 18 राज्यों को NGT का नोटिस, पूछा- क्यों न करें पटाखों को बैन

गौरतलब है कि पूर्व डीजीपी की पत्नी के खिलाफ सरकारी भूमि का गलत तरीके से जमाबंदी कर रैयती बनाने का मामला कांके अंचल के चामा मौजा में किया गया था. विभाग की ओर से कांके अंचल के हल्का-03, मौजा चामा, खाता संख्या 87 और प्लॉट संख्या 1232 में पूर्व डीजीपी डीके पांडेय की पत्नी पूनम पांडेय सहित 29 लोगों ने अपने नाम पर सरकारी भूमि का म्यूटेशन कराया था. आपको बता दें कि इस पूरे मामले में भू-राजस्व विभाग ने जमाबंदी निरस्त करने और दोषी सरकारी कर्मचारियों के विरुद्ध कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं.

 

अन्य खबरें