झारखंड सरकार के आदेश- दिसंबर से खुलेंगे स्कूल, सभी क्लास चलेंगी ऑफलाइन

Indrajeet kumar, Last updated: Mon, 22nd Nov 2021, 12:41 PM IST
  • झारखंड सरकार दिसंबर से राज्य के स्कूलों के सभी कक्षाओं को खोलने की तैयारी कर रही है. राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की अगली बैठक में सभी कक्षाओं में ऑफलाइन पढ़ाई शुरू करने की मंजूरी मिल सकती है. आपदा प्रबंधन प्राधिकरण अगले सप्ताह तक इसपर फैसला कर सकता है.
प्रतीकात्मक फोटो

रांची. झारखंड के स्कूलों का संचालन दिसंबर से सामान्य हो जाएगा. राज्य सरकार स्कूलों के संचालन के लिए तैयारी कर रही है. राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की अगली बैठक में ऑफलाइन पढ़ाई शुरू करने की मंजूरी मिल सकेगी. फिलहाल छठी से 12वीं के ही क्लास ऑफलाइन चल रहे हैं. साथ ही पढ़ाई की अवधि चार घंटे ही रखी गई है. लेकिन अब इसमें बदलाव कर के कोरोना काल से पहले चल रहे रूटीन को लागू किया जाएगा. आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की बैठक इस सप्ताह के अंत तक या अगले सप्ताह तक होगी. ज्यादातर राज्यों के प्राइमरी स्कूल भी पहले ही खोले जा चुके हैं. 

कक्षा नौवीं से 12वीं की ऑफलाइन पढ़ाई छह अगस्त से और छठी से आठवीं की ऑफलाइन पढ़ाई 24 सितंबर से शुरू चुकी है. राज्य में प्राथमिक स्कूलों को खोलने का प्रस्ताव शिक्षा विभाग ने आपदा प्रबंधन प्राधिकरण को भेज दिया था. पिछली बैठक में इस पर चर्चा भी हुई, लेकिन दीपावली-छठ पूजा जैसे त्योहार को देखते हुए और कोरोना संक्रमण के बढ़ने की आशंका के मद्देनजर स्कूलोंको खोलने का फैसला अगली बैठक तक के लिए टाल दिया गया. कोरोना संक्रमण में गिरावट को देखते हुए राज्य सरकार या पहली से पांचवी या फिर तीसरी से पांचवीं तक के बच्चों को स्कूल बुलाने पर फैसला ले सकती है. हालांकि लगातार ठंड में संभावित बढ़ोतरी को देखते हुए पहली-दूसरी के बच्चों को स्कूल नहीं बुलाया जा सकता है और तीसरी से पांचवीं के बच्चों की ऑफलाइन पढ़ाई शुरू की जा सकेगी.

फिर से शुरू होगा मध्याह्न भोजन

राज्य शिक्षा सचिव राजेश कुमार शर्मा ने एक नवंबर से 31 मार्च के लिए नया समय निर्धारित किया है. स्कूल सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक चलाया जाएगा. 9.15 बजे से 2.30 बजे तक छात्र-छात्राओं के पठन-पाठन का काम होगा, जबकि अगले आधे घंटे प्रारंभिक स्कूलों में मध्याह्न भोजन मिलेगा. वहीं शिक्षकों को 4 बजे तक स्कूलों में रहने का निर्देश दिया गया है. ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि वर्तमान में बच्चों को 4 घंटे की ऑफलाइन पढ़ाई अब छह घंटे कर दी जाएगी. लेकिन शिक्षक संगठन इसका विरोध कर रह हैं.

झारखंड: मानव तस्करी के चंगुल से बचकर कर रही गार्ड की नौकरी, अब बाल तस्करी पर सुनाएंगी फैसला

शिक्षक जता रहे हैं विरोध

शिक्षा सचिव राजेश कुमार शर्मा ने एक नवंबर से 31 मार्च के लिए नया समय निर्धारित किया है। स्कूल सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक चलेंगे। इसमें 9.15 बजे से 2.30 बजे तक छात्र-छात्राओं के पठन-पाठन का काम होगा, जबकि अगले आधे घंटे प्रारंभिक स्कूलों में मध्याह्न भोजन मिलेगा। शिक्षकों को 4 बजे तक स्कूलों में रहने का निर्देश दिया गया है। शिक्षा सचिव के निर्देश के बाद कुछ जिलों ने स्कूलों के प्रधानाध्यापकों को इसके पालन की सूचना जारी कर दी है. लेकिन शिक्षक इसका विरोध कर रहे हैं. शिक्षकों का कहना है कि अभी आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के निर्देश पर स्कूलों में पठन-पाठन का काम 4 घंटे के लिए हो रहा है. ऐसे में सुबह 9 बजे से दोपहर 1 बजे तक ही बच्चों की क्लास ली जा रही है. लेकिन 4 बजे तक शिक्षकों को रुकना होगा तो अगले 3 घंटे में क्या करेंगे, शिक्षा विभाग को ये स्पष्ट कर देना चाहिए.

अन्य खबरें