झारखंड सरकार किसानों की आय बढ़ाने के लिए नई योजना पर करेगी काम

Smart News Team, Last updated: Fri, 13th Nov 2020, 3:50 PM IST
  • कृषि मंत्री बादल ने कहा कि दूसरे प्रदेशों की कृषि नीति और तकनीक को देख उसे भी झारखंड के अनुकूल बनाने की दिशा में काम किया जा रहा है. जिससें किसानों को आत्मनिर्भर बनाया जा सकें. 
किसानों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सरकार नई योजना बना रही हैं.

झारखंड में किसानों की आमदनी एंव कृषि की उत्पादन क्षमता बढाने के लिए राज्य सरकार नयी योजना तैयार कर रही हैं. कृषि विभाग ने सभी जिलों से सलाह मांगी हैं कि वह अपने जिलें का एकशन प्लान सरकार के समक्ष रखें. प्रदेश सरकार 2017 में सौंपी गयी टी नंदकुमार समिति की कार्य योजना पर काम करेगी. जिसमें तीन वर्षों के कार्यो योजना के अन्तर्गत 2020 तक सिंचाई क्षमता का उपयोग आठ लाख हेक्टेयर तक पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया था.

कृषि मंत्री बादल ने बताया कि किसानों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सरकार हर स्तर पर काम कर रही है. साथ ही किसानों के लिए कृषि विभाग दूसरे राज्यों में अपनायी जा रही कार्य प्रणाली का भी अध्ययन कर रहा है. इन राज्यों में पंजाब, छत्तीसगढ़, केरल व अन्य राज्यों के उन्नत कृषि तकनीकों को देखा जा रहा है. वरिष्ट कृषि अधिकारी के अनुसार तमिलनाडु में किसानों की सहूलियत के लिए 60 कम्यूनिटी रेडियो स्टेशन हैं. जबकि, झारखंड और बीएयू में एक एक ही हैं.

झारखंड CM हेमंत सोरेन ने तेजस्वी यादव के 31वें जन्मदिन पर दी बधाई, बोले...

अगर किसानों के लिए इस क्षेत्र में विकास किया जाए तो उन्हें समय पर मौसम की जानकारी मिलेगी. जिससे वह फसलों की बुआई से लेकर कटाई तक की जानकारी आसानी से पा सकता हैं. बादल के अनुसार दूसरे प्रदेशों की कृषि नीति और तकनीक को देख उसे भी झारखंड के अनुकूल बनाने की दिशा में काम किया जा रहा है

CM हेमेंत सोरेन को मिला अतिरिक्त प्रभार, मंत्री चंपई के पास अल्पसंख्यक विभाग

झारखंड के कृषि मंत्री बादल के अनुसार दूसरे प्रदेशों की कृषि नीति और तकनीक को देख उसे भी झारखंड के अनुकूल बनाने की दिशा में काम किया जा रहा है. पांच वर्ष के एक्शन प्लान में जैविक खेती को बढ़ावा दिया जायेगा। कम पूंजी में किस तरह से किसानों को अधिक लाभ मिल सके इस पर भी काम किया जायेगा. कृषि मंत्री ने कहा कि किसानों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सरकार हर स्तर पर काम कर रही है. हर जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं.

झारखंड कैबिनेट में पारित हुआ सरना कोड, जनगणना 2021 से पहले केंद्र को भेजा जाएगा

लालू यादव की तबियत बिगड़ी, क्रेटनील लेवल बढ़ा, पड़ सकती है डायलिसिस की जरूरत

अन्य खबरें