झारखंड की राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू बोलीं- जंगलों का सफाया कर रहे माफिया

Smart News Team, Last updated: 28/11/2020 02:59 PM IST
  • झारखंड की राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने शुक्रवार को केंद्र सरकार के नवीन और नवीनकरणीय ऊर्जा मंत्रालय की तरफ से आयोजित अक्षत ऊर्जा निवेशकों के कार्यक्रम बोलीं कि झारखंड के जंगलों में माफिया हरे पेड़ों की कटाई करके जंगलों का सफाया कर रहे हैं.
झारखंड की राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू.

रांची. झारखंड की राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए केंद्र सरकार के नवीन और नवीनकरणीय ऊर्जा मंत्रालय की तरफ से आयोजित अक्षत ऊर्जा निवेशकों की बैठक और एक्सपो के टोस्ट संस्करण को संबोधित किया. उन्होंने कहा कि झारखंड के जंगलों में माफिया हरे पेड़ों की कटाई करके जंगलों का सफाया कर रहे हैं.

राज्यपाल ने कहा कि पेड़ों की कटाई के चलते बारिश कम होने लगी है और प्रदूषण का स्तर बढ़ता जा रहा है, जिस कारण ऑक्सीजन की कमी हो रही और इसका पर्यायवरण पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है. उन्होंने आगे कहा कि जंगलों के आसपास रहने वाले आदिवासियों के घर पर लकड़ी के घर पर फर्नीचर नहीं मिलेंगे, लेकिन शहरों में लकड़ी की मांग बढ़ती जा रही है.

रांची: विशेष अभियान के तहत मतदाता केंद्रों पर वोटर लिस्ट में दर्ज करवाएं नाम

राज्यपाल ने बिजली उत्पादन की क्षमता को लेकर कहा कि भारत ने कुछ सालों से बिजली उत्पादन क्षमता में काफी विस्तार किया है. अक्षत ऊर्जा स्रोतों से बिजली उत्पादन बढ़ा है. इसका श्रेय पीएम मोदी को जाता है. उन्होंने केंद्रीय मंत्री आरके सिंह और विभाग के सचिव इंदु शेखर चतुर्वेदी को भी बधाई दी है. राज्यपाल ने कहा कि पर्यावरणविदों ने 1970 के दशक में जीवाश्म ईंधन पर मानव की निर्भरता को कम करने के लिए अक्षय ऊर्जा को बढ़ावा देने की कोशिश की थी.

झारखंड में साइबर क्राइम के खिलाफ जागरूकता फैलाना के लिए पुलिस ने लांच की किताब

राज्यपाल ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कहा कि कुछ राज्यों ने आदिवासियों को जंगल की हिफाजत करने की जिम्मेदारी दी थी, लेकिन उन्हें इसे लागू करने के लिए आधिकारिक शक्ति नहीं दी गई.

अन्य खबरें