झारखंड हाईकोर्ट का आदेश, JPSC मुख्य परीक्षा की कॉपियां रखी जाएं सुरक्षित

Smart News Team, Last updated: Wed, 11th Nov 2020, 6:26 PM IST
  • जेपीएससी की तरफ से हुई गड़बड़ी पर आज झारखंड हाईकोर्ट में सुनवाई हुई। जहाँ पर अदालत ने सभी सभी उत्तरपुस्तिकाओं को मामले की जाँच हो जाने तक सुरक्षित रखने का निर्देष दिया
जेपीएससी की कॉपिया पूरी जाँच होने तक राखी जाएगी सुरक्षित

झारखण्ड के हाईकोर्ट ने छठी बार हुई झारखंड पब्लिक सर्विस कमिशन (JPSP) की मुख्य परीक्षा की सभी उत्तरपुस्तिकाओं को सुरक्षित रखने का निर्देश दिया है. हाईकोर्ट ने ये भी आदेश दिया कि अभी उत्तरपुस्तिकाए तब तक संभाल कर जाए जब तक इस पुरे मामले की सुनवाई नहीं हो जाती है. इस पुरे मामले की सुनवाई जस्टिस इसके द्विवेदी की पीठ कर रही है। हाईकोर्ट ने जेपीएसपी एक और आदेश दिया कि सभी सफल उम्मीदवारों का पता भी प्रार्थी को उपलब्ध कराया जाय, जिससे सभी उम्मीदवारों को इस मामले में प्रतिवादी बनाया जा सके.

हाईकोर्ट में सुनवाई के दौरान मैजूद दिलीप कुमार सिंह ने अदालत को बताया कि 24 सितम्बर 2020 को जेपीएसपी की मुख्य परीक्षा में सफल हुए सभी 326 अभ्यर्थियों को एक सार्वजनिक नोटिस जारी किया गया था. जिसमे से 263 अभ्यर्थियों ने हाईकोर्ट में अपना वकालतनामा दाखिल कर दिया है. मंगलवार को अदालत ने प्रति दिलीप से सभी सफल अभ्यर्थियों को परसतीवादी बनाते हुए कोर्ट में संशोधित याचिका दाखिल करने का निर्देश दीया है.

क्या है सरना कोड और सरना धर्म कोड, जानें पूरा मामला

आपको बता दे कि जेपीएससी ने प्रथम पेपर के पासिंग मार्क को कुल अंको के साथ जोड़कर परीक्षा के परिणाम निकले थे. जिससे वो अभ्यर्थी मेरिट लिस्ट से बाहर हो गए जिन्होंने बाकि के विषयों में अच्छे अंक प्राप्त किए थे. जबकि आवेदन के समय यह कहा गया था कि प्रथम प्रश्न पत्र में केवल पासिंग मार्क के नम्बर लाना होगा, लेकिन उसे प्राप्तांक में नहीं जोड़ा जाएगा. इसके उलट जेपीएससी ने इसके भी अंक प्रप्तांक में जोड़कर परीक्षा का प्रीणनं जारी कर दिया था. इसे लेकर साफ हुए अभ्यर्थी झारखण्ड हाईकोर्ट में याचिका दाखिल किया है.

अन्य खबरें