पूरी तरह पेपरलेस होगा झारखंड हाईकोर्ट का नया भवन, डिजिटल मोड में होंगी सभी सुनवाई

Smart News Team, Last updated: Thu, 11th Mar 2021, 5:52 PM IST
  • झारखंड हाईकोर्ट के नए भवन में याचिका से लेकर सुनवाई तक सब कुछ पेपरलेस करने की तैयारी की जा रही है. सभी मामलों की डिजिटल सुनवाई होगी. हाईकोर्ट ने सरकार को इसका सुझाव दिया है.
झारखंड हाईकोर्ट से सरकार को नए कोर्ट के भवन को पेपरलेस बनाने का सुझाव दिया है.

राँची. झारखंड के नए हाईकोर्ट में कामकाज को पूरी तरह से पेपरलेस करने की तैयारी की जा रही है. याचिका से लेकर सुनवाई तक किसी में भी कागज का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा. सभी मामलों की सुनवाई डिजिटली की जाएगी. झारखंड हाईकोर्ट ने सरकार से नए कोर्ट भवन में इसकी व्यवस्था करने का सुझाव दिया है. उन्होंने इसके लिए अभी से कदम उठाने को कहा है. 

मिली जानकारी के अनुसार, झारखंड के नए हाईकोर्ट में सब कुछ पेपरलेस होगा. प्रार्थी की ओर से दायर याचिका, प्रतिवादी का जवाब और सभी दस्तावेज डिजिटल मोड में फाइल होंगे. सभी की स्कैन कॉपी जजों के लैपटॉप में रहेगी और लैपटॉप से दस्तावेजों को जज देखेंगे. मामले की सुनवाई पूरी करने के बाद आदेश भी डिजिटल ही लिखा जाएगा. आपको बता दें कि पेपरलेस सुनवाई के लिए झारखंड हाईकोर्ट ने पहले ही ट्रायल रखा था.

रांची के बिरसा मुंडा एयरपोर्ट पर कार की नंबर प्लेट बदलते हुए युवक गिरफ्तार, पुलिस पूछताछ में जुटी

20 मई को चीफ जस्टिस डॉ. रवि रंजन और जस्टिस सुजीत नारायण की अदालत ने पेपरलेस सुनवाई की थी. उस दिन दस मामलों सुनवाई के लिए सूचीबद्ध थे. इसमें दो मामलों को निष्पादन भी किया गया था. दोनों मामलों के आदेश ऑनलाइन जारी किए गए थे. पेपरलेस सुनवाई का ट्रायल पूरी तरह से सफल रहा था. इसके बाद से हाईकोर्ट को पेपरलेस बनाने की तैयारी शुरू कर दी गई.

आय से अधिक संपत्ति केस में घिरे सहकारिता अफसर, जयदेव प्रसाद सिंह पर आरोप

आपको बता दें कि फिलहाल झारखंड हाईकोर्ट में याचिका ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह फाइल हो रही हैं. ईमेल से फाइल होने वाली याचिकाओं का प्रिंट निकाल कर फाइल में रखा जा रहा है. पेपरलेस कोर्ट होने के बाद हाईकोर्ट में एक भी कागज का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा. हाईकोर्ट के बाद धीरे-धीरे सभी अदालतों में इसी व्यवस्था को लागू किया जाएगा.

 

अन्य खबरें