झारखंड: दुर्गा सोरेन सेना का गठन, शिबू सोरेन की पोतियों की राजनीति में एंट्री !

Ankul Kaushik, Last updated: Fri, 15th Oct 2021, 10:46 PM IST
  • झारखंड में दुर्गा सोरेन सेना का गठन हुआ है. इस सेना के गठन को झारखंड मुक्ति मोर्चा की विधायक सीता सोरेन की दो बेटियों जयश्री सोरेन और राजश्री सोरेन ने किया है. जेएमएम शिबू सोरेन की पोतियों ने अपने पिता दुर्गा सोरेन का नाम पर इस सेना का गठन किया है.
झारखंड में दुर्गा सोरेन सेना का गठन

रांची. झारखंड मुक्ति मोर्चा के सुप्रीमो शिबू सोरेन की बहू सीता सोरेन की दो बेटियों जयश्री सोरेन और राजश्री सोरेन ने अपने स्वर्गीय पिता दुर्गा सोरेन के नाम पर सेना का गठन किया है. विजयादशमी के मौके पर झारखंड मुक्ति मोर्चा की विधायक सीता सोरेन की बेटियों ने अपने पिता के नाम पर दुर्गा सोरेन का गठन किया है. राजश्री सोरेन और जयश्री सोरेन ने अपनी मां के धुर्वा स्थित आवास पर इस सेना के गठन का ऐलान किया है. हालांकि इस मौके पर राजश्री सोरेन और जयश्री सोरेन की मां सीता सोरेन मौजूद नहीं थी. दुर्गा सोरेने सेना का गठन करने के बाद राजश्री ने कहा संगठन से उनके दादा खुश हैं और अस्वस्थ होने की वजह से नहीं आ सके और उन्होंने उनको अपना आशीर्वाद दिया है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि ये विशुद्ध रूप से सामाजिक संगठन है ना की राजनीतिक.

संगठन को बनाए जाने पर दुर्गा सोरेन की बेटी जयश्री सोरेन ने कहा कि वह अपने पिता के सपनों के लिए कुछ करना चाहती थीं और इसलिए उन्होंने दुर्गा सोरेन सेना संगठन बनाया है. इसके साथ ही उन्होंने झारखंड में अपने चाचा हेमंत सोरेन की सरकार के बारे में कहा कि मौजूदा सरकार अपना काम कर रही है और वह अपना बेस्ट दे रहे हैं. वहीं उन्होंने कहा कि वह राज्य की समस्याओं को खत्म करने की पूरी कोशिश कर रहे हैं, हालांकि मुद्दे कभी खत्म नहीं होते. इसलिए हम अलग मंच से ऐसे कामों को पूरा करने की कोशिश करेंगे.

RIMS में मरीजों को कम कीमत पर मिलेगी जांच सुविधाएं, सीएम हेमंत सोरेन ने किया सेंट्रल लैब,सीटी स्कैन का उद्घाटन

झारखंड मुक्ति मोर्चा के अध्यक्ष शिबू सोरेन की दोनों पोतियों कहना है कि सोरेन सेना (डी एस एस) एक गैर-राजनीतिक संगठन होगा. यह संगठन आदिवासी, मूलवासी, पिछड़े, अल्पसंख्यक, दलित सभी के विकास और उसके शैक्षणिक एवं रोजगार को बढ़ावा देगा. यह सेना भ्रष्टाचार, विस्थापन, जमीन की लूट के खिलाफ भी संघर्ष करेगी. इसके साथ ही दुर्गा सोरेन से जुड़े रहे छोटेलाल महतो, राकेश पासवान, लाल बिहारी महतो, जितेंद्र सिंह पावर, राकेश मिश्रा के साथ सभी के सहयोग से संगठन को ताकत दी जाएगी.

अन्य खबरें