वेतनमान मिलने के बाद झारखंड के पारा शिक्षकों की दोगुनी हो जाएगी सैलेरी, डिटेल्स

MRITYUNJAY CHAUDHARY, Last updated: Fri, 12th Nov 2021, 8:22 AM IST
  • झारखंड पारा शिक्षकों को वेतनमान मिलने के बाद उनकी सैलरी दोगुनी हो जाएगी. जिसको लेकर झारखंड सरकार की तरफ से प्रस्ताव भी तैयार कर लिया गया है. वहीं इसे शिक्षक पात्रता परीक्षा और दक्षता परीक्षा पास कर चुके पारा शिक्षकों को दिया जाएगा.
वेतनमान मिलने के बाद झारखंड के पारा शिक्षकों की दोगुनी हो जाएगी सैलेरी, डिटेल्स

रांची. झारखंड सरकार पारा शिक्षकों को बढ़े हुए वेतनमान के अनुसार सैलेरी देने की तैयारी कर ली है. जिसके मिलने के बाद पारा शिक्षकों की सैलेरी दोगुनी हो जाएगी. पारा शिक्षकों के वेतनमान को लेकर स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग ने शिक्षक पात्रता परीक्षा और दक्षता परीक्षा पास करने वालों को मिलने वाली राशि का प्रस्ताव भी तैयार कर लिया है. जिसको मंजूरी मिलने के बाद पारा शिक्षकों की सैलेरी दोगुनी हो जाएगी. वहीं जिन्हे पहले 13,951 प्रति माह मिलता था, उन्हे सैलेरी 26,635 राशि मिलेगी.

झारखंड सरकार की तरफ से पारा शिक्षकों को मिलने वाले नए वेतन मन के अनुसार 5200-20,200 का वेतनमान, 2000, 2400 व 2800 का ग्रेड पे, 28 प्रतिशत डीए, 1000 मेडिकल भत्ता और 1950 रुपये ईपीएफ मिलेगा. इसका लाभ लेने के लिए प्रशिक्षित 46,776 पारा शिक्षकों को दक्षता परीक्षा पास करना होगा. वहीं अप्रशिक्षित 2058 पारा शिक्षकों इसमें से किसी का भी लाभ नहीं मिलेगा. 

रांची में कश्मीरी युवकों से मारपीट कर दी शहर छोड़ने की धमकी, आरोपी गिरफ्तार

हिंदुस्तान स्मार्ट के गणना के अनुसार वेतनमान मिलने के बाद छठी से आठवीं के टेट पास पारा शिक्षकों को 15000 मानदेय की जगह 29,267 मासिक मानदेय मिलेगा. साथ ही पहली से पांचवीं तक के पारा शिक्षकों को 14 हजार मानदेय की जगह 27, 951 रुपए मासिक मिलेगा. वहीं दक्षता परीक्षा पास करने वाले प्रशिक्षित पारा शिक्षकों को 13000 मानदेय की स्थान पर 27,951 रुपए मासिक मिलेगा.

झारखंड शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो एक या दो दिन में पारा शिक्षकों से सेवा शर्त नियमावली पर चर्चा करने के लिए वार्ता कर सकते है. दरअसल पिछले दिनों मंत्री जगरनाथ महतो ने कहा था कि छठ पूजा के बाद पारा शिक्षकों से सेवा शर्त नियमावली वार्ता करने के लिए बुलाया जाएगा. ऐसे में झारखंड सरकार शुक्रवार या शनिवार को पारा शिक्षकों के साथ सेवा शर्त नियमावली पर बातचीत कर सकती है.

अन्य खबरें