झारखंड पुलिस की कार्रवाई, PLFI प्रमुख के 8 सहयोगी अरेस्ट, BMW, जीप समेत 77 लाख बरामद

Shubham Bajpai, Last updated: Thu, 13th Jan 2022, 9:55 AM IST
झारखंड पुलिस लगातार नक्सलियों के विरोध कार्रवाई कर रही है. इस बीच पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए पीएलएफआई प्रमुख दिनेश गोप के करीबी 8 नक्सलियों को गिरफ्तार कर लिया. इनके पास से पुलिस ने 77 लाख रुपये नगद के साथ बीएमडब्ल्यू कार, जीप समेत नक्सली टेंट भी बरामद किया है.
झारखंड पुलिस की कार्रवाई, PLFI प्रमुख के 8 सहयोगी अरेस्ट, BMW, जीप समेत 77 लाख बरामद (फाइल फोटो)

रांची (भाषा). झारखंड पुलिस द्वारा लगातार चलाए जा रहे नक्सल विरोध अभियान के तहत पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए 8 नक्सलियों को गिरफ्तार किया. पुलिस को इन नक्सलियों के पास से 77 लाख रुपये समेत कई महंगी गाड़ियां और समान मिला है. जिसे पुलिस ने जब्त कर लिया है. ये 8 नक्सली पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएलएफआई) के मुखिया दिनेश गोप के करीबी बताए जा रहे हैं. 

झारखंड पुलिस द्वारा लगातार चलाए जा रहे नक्सल विरोध अभियान के तहत पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए 8 नक्सलियों को गिरफ्तार किया. पुलिस को इन नक्सलियों के पास से 77 लाख रुपये समेत कई महंगी गाड़ियां और समान मिला है. जिसे पुलिस ने जब्त कर लिया है. ये 8 नक्सली पीपुल्स

Jharkhand Corona Virus: पिछले 24 घंटे में मिले 4753 नए मामले, 8 की मौत

रांची के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुरेन्द्र कुमार झा ने बताया कि रांची में छह जनवरी को धुर्वा बांध के पास से पीएलएफआई के सरगना दिनेश गोप के करीबी आर्या कुमार सिंह एवं अमीर चंद पकड़े गये थे जिनके पास से पुलिस ने साढ़े तीन लाख रुपये नकद एवं नक्सली पर्चे आदि सामान बरामद किया था. छापे के दौरान मौके से उसके तीन अन्य सहयोगी भाग निकले थे लेकिन बाद में उससे पूछताछ के आधार पर पुलिस ने मंगलवार को कार्रवाई कर बिहार के बक्सर एवं झारखंड तथा बिहार के अनेक अन्य स्थानों से कुल सात नक्सलियों को गिरफ्तार किया. इनकी पहचान निवेश कुमार, शुभम पोद्दार, ध्रुव सिंह, उज्जवल कुमार, प्रवीण कुमार और सुभाष पोद्दार के रूप में की गयी है.

उन्होंने बताया कि गिरफ्तार नक्सलियों के पास से पुलिस ने बीएमडब्ल्यू कार, मॉडिफाइड थार जीप (मॉन्स्टर जीप), नक्सलियों को आपूर्ति किए जाने वाले टेंट, मोबाइल, सिम सहित तमाम सामग्री बरामद की है.

पुलिस ने पीएलएफआई के सरगना दिनेश गोप के आर्थिक मामलों के मास्टरमाइंड निवेश कुमार के मोबाइल फोन की जांच की तो उसे कुछ बेहद चौंकाने वाली तस्वीरें मिलीं, जिससे उसके अंतरराष्ट्रीय नेटवर्क की बात सामने आई है.

प्रतिबंधित नक्सली संगठन को चीन, पाकिस्तान और बांग्लादेश से भी हथियारों की आपूर्ति की आशंका है.

मामले की विस्तृत जानकारी देते हुए रांची के ग्रामीण पुलिस अधीक्षक नौशाद आलम ने बताया कि मामले में अनेक लोगों के जुड़ाव की बात सामने आयी है और फिलहाल इन सभी बिंदुओं की जांच की जा रही है.

अन्य खबरें