झारखंड में टीचरों के लिए भी प्राइवेट स्कूल बंद, वर्क फ्रॉम होम करेंगे सभी शिक्षक

Smart News Team, Last updated: Mon, 19th Apr 2021, 3:46 PM IST
  • झारखंड में सरकार के निर्देश के बाद निजी स्कूलों ने शिक्षकों के लिए भी स्कूल बंद करने का फैसला किया हं. अब से झारखंड में टीचर वर्क फ्रॉम होम करेंगे. कोई भी शिक्षक स्कूल नहीं आ पाएगा. कोरोना केा देखते ये फैसला लिया गया है.
झारखंड के प्राइवेट स्कूलों के टीचर घर से बच्चों को पढ़ाएंगे. प्रतीकात्मक तस्वीर

राँची. कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते झारखंड के प्राइवेट स्कूलों में शिक्षक स्कूल नहीं आएंगे. निजी स्कूलों में टीचरों के लिए वर्क फ्रॉम करने का फैसला किया है. झारखंड सरकार के निर्देश के बाद प्राइवेट स्कूलों ने ये फैसला लिया है. जिसमें से ज्यादातर सीबीएसई के स्कूल शामिल है. इस फैसले के बाद झारखंड के प्राइवेट स्कूल पूरी तरह से बंद रहेंगे.

इससे पहले मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने झारखंडवासियों के नाम संदेश दिया था. जिसमें उन्होंने कहा कि सरकार ने कोरोना संक्रमण को तोड़ने के लिए कई निर्णय लिए हैं. अब से सभी स्कूल, कॉलेज, कोचिंग, ट्रेनिंग संस्थाएं, आईटीआई और आंगनबाड़ी केन्द्र बंद होंगे. सीएम ने कहा कि राज्य में होने वाली आगामी परीक्षाओं को अगले आदेश तक रद्द किया जाता है. एक महीने के बाद समीक्षा करेंगे. जिसके बाद आगे का फैसला लिया जाएगा.

MP वीडी राम ने कोरोना से लड़ने को अपने संसदीय क्षेत्र के लिए जारी किया निधि कोष, दिए 15 लाख

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि पहले शादी के कार्यक्रम में अधिकतम संख्या 200 थी, अब उसे घटाकर 50 कर दिया गया है. उन्होंने कहा कि पूरे राज्य में जिले स्तर पर ऑक्सीजन युक्त बेड का उपलब्ध कराना, आत्मरक्षक दवाओं के लिए प्रयास करना, प्रमुख शहरों के अस्पतालों और मेडिकल कॉलेज में बेड की संख्सा को बढ़ाना सुनिश्चित कर लिया है. सीएम ने कहा कि जैसे-जैसे बेड बढ़ रहे है, वो तेजी से भर रहे हैं.

राहत : राज्यों को ऑक्सीजन की सप्लाई के लिए रेलवे का स्पेशल प्लान, जानें डिटेल

झारखंड में कोरोना से हालात बेकाबू होते जा रहे हैं. बीते 24 घंटे में प्रदेश में कोरोना के 3 हजार 992 केस मिले हैं. वहीं 1 हजार 551 कोरोना मरीज पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं. इसके अलावा झारखंड में पिछले 24 घंटे में कोरोना से 50 लोगों की मौत हो चुकी है.

 

अन्य खबरें