बदलेगी झारखंड लोक सेवा आयोग की नियमावली

Smart News Team, Last updated: Thu, 5th Nov 2020, 9:52 PM IST
  • झारखंड लोक सेवा आयोग के सातवें दौर की प्रारंभिक परीक्षा से पहले नियमावली तय कर दी जाएगी. अभी तक बिना नियमावली के संपन्न कराई गई आयोग की परीक्षाओं में पहले के नियमों में फेरबदल किया जाएगा इसके लिए गठित कमेटी ने नियमावली के प्रारूप तैयार कर स्वीकृति प्रदान कर दी है.
झारखंड सरकार ने लोक सेवा आयोग के सातवें दौर की परीक्षा से पहले नियमावली तय किए जाने के निर्देश दिए

रांची. बता दें कि राज्य के गठन के बाद से ही झारखंड लोक सेवा आयोग की परीक्षाएं बिना नियमावली के संपन्न कराई जा रही थी. जिससे हर साल की परीक्षा के दौरान विवाद की स्थिति उत्पन्न होती थी. अब झारखंड सरकार ने लोक सेवा आयोग के सातवें दौर की परीक्षा से पहले नियमावली तय किए जाने के निर्देश दिए हैं. शासन से निर्देश मिलने के बाद नियमावली तय करने के लिए विकास आयुक्त केके खंडेलवाल की अध्यक्षता में कमेटी गठित कर दी गई है. इस कमेटी में कार्मिक और वित्त विभाग के प्रधान सचिव को भी सदस्य के रूप में शामिल किया गया है. कमेटी की ओर से नियमावली का प्रारूप तय कर स्वीकृति प्रदान कर दी गई है. अब इस नियमावली को कैबिनेट की मोहर लगने का इंतजार है. कैबिनेट से स्वीकृति मिलने के बाद सातवीं झारखंड लोक सेवा आयोग की प्रारंभिक परीक्षा डैनी मावली के अनुसार ही संपन्न कराई जाएगी.

झारखंड के पूर्व सचिव सजल चक्रवर्ती का निधन, चारा घोटाले में रहे दोषी

कमेटी के अध्यक्ष विकास आयुक्त केके खंडेलवाल में नियमावली के प्रारूप की जानकारी देते हुए बताया कि झारखंड लोक सेवा आयोग की अगली परीक्षाएं ट्रेनी मावली के अनुसार ही संपन्न कराई जाएगी. उन्होंने बताया कि नई-नई मावली में आरक्षण श्रेणी के अलावा सेवा आवंटन के नियमों में भी व्यापक फेरबदल किया गया है. यही नहीं अब तक की परीक्षाओं में भाषा अंक जोड़कर मेरिट लिस्ट तैयार की जाती रही है अब आगे की परीक्षाओं में भाषा के नंबर मेरिट लिस्ट तैयार करने में नहीं जोड़े जाएंगे.

विकास आयुक्त श्री खंडेलवाल ने बताया कि झारखंड लोक सेवा आयोग की नियमावली का प्रारूप तय करने के लिए उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग, राजस्थान लोक सेवा आयोग, आंध्र प्रदेश लोक सेवा आयोग की परीक्षाओं में मौजूद नियमावली के अंश को शामिल किया गया है.

अन्य खबरें