लंबित परीक्षाओं के आयोजन के साथ जल्द रिक्त पदों को भरेगी झारखंड लोक सेवा आयोग

Smart News Team, Last updated: 22/11/2020 08:22 PM IST
  • फिलहाल बैकलॉग के शेष पदों पर नियुक्ति की प्रक्रिया चल रही है.इसके बाद शीघ्र ही नियमित नियुक्ति को लेकर भी प्रक्रिया चालू कर दी जाएगी.
झारखंड लोक सेवा आयोग अब जल्द लंबित प्रतियोगिता परीक्षाएं आयोजित करने जा रहा है

रांची . जेपीएससी झारखंड लोक सेवा आयोग अब जल्द लंबित प्रतियोगिता परीक्षाएं आयोजित करने जा रहा है. लगभग एक महीने तक आयोग में रिक्त अध्यक्ष पद में अमिताभ चौधरी के अध्यक्ष बनने के बाद परीक्षाओं के शीघ्र आयोजन को लेकर गतिविधियां तेजी से बढ़ गई हैं. फिलहाल आयोग अपना पूरा जोर वर्षों से लंबित प्रतियोगिता परीक्षाएं पूरी करने पर लगा रहा है.

जानकारी के अनुसार प्रतियोगी परीक्षाओं की संभावित तिथियां भी तय कर दी गयी हैं. आपको बता दें कि राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू कई बार विश्वविद्यालय शिक्षकों की शीघ्र नियुक्ति के निर्देश दे चुकी हैं. इस वजह से भी जल्द शुरू की जा रही नियुक्तियों में जेपीएससी विश्वविद्यालयों में असिस्टेंट प्रोफेसरों की नियुक्ति को प्राथमिकता देगा. फिलहाल बैकलॉग के शेष पदों पर नियुक्ति की प्रक्रिया चल रही है. इसके बाद शीघ्र ही नियमित नियुक्ति को लेकर भी प्रक्रिया चालू कर दी जाएगी.

लगातार तीसरी बार 527 करोड़ का वर्क आर्डर लेकर एचईसी ने लगाई हैट्रिक

सबसे पहले झारखंड संघ लोक सेवा आयोग ने आठ प्रतियोगिता परीक्षा कराने का फैसला लेते हुए संभावित तिथियां तय कर दी हैं. इनमें संयुक्त सिविल सेवा बैकलॉग प्रारंभिक परीक्षा-2017 , असिस्टेंट टाउन प्लानर (नगर विकास विभाग), सहायक निदेशक तथा सब डिवीजनल एग्रीकल्चर अफसर (कृषि सह पशुपालन विभाग), सहायक अभियंता (विभिन्न कार्य विभाग), साइंटिफिक अफसर (खान एवं भूतत्व विभाग), सहायक अभियंता (नगर विकास विभाग), एकाउंट्स अफसर (नगर विकास विभाग) शामिल हैं. इनमें कुछ परीक्षाओं की लिखित परीक्षा होनी है, जबकि कुछ का साक्षात्कार होना है. जानकारी के अनुसार कई अन्य प्रतियोगिता परीक्षाएं अगले साल मार्च तक पूरा करने की तैयारी चल रही है.

 जल्दी इन परीक्षाओं की भी संभावित तिथियां भी तय की जाएंगी. इनमें पॉलीटेक्निक तथा बीआइटी सिदरी में व्याख्याताओं एवं अन्य पदों पर नियुक्ति, बिरसा कृषि विश्वविद्यालय में विभिन्न पदों पर नियुक्ति होनी हैं. लंबित कई परीक्षाओं में कुछ बिदुओं पर संबंधित विभागों को पहले ही स्पष्ट करने को कहा गया है. अब उनसे दोबारा पत्राचार किया जा रहा है. वहीं, कुछ प्रतियोगिता परीक्षाएं नियमावली में त्रुटि होने के कारण कैंसिल करनी पड़ी थीं. इन परीक्षाओं की प्रक्रियाएं भी फिर से प्रारम्भ की जा सकती हैं.

अन्य खबरें