झारखंड: बस में यात्रा के लिए परिवहन विभाग ने जारी की नई गाइलाइन, जानें डिटेल्स

Smart News Team, Last updated: Mon, 2nd Aug 2021, 8:17 AM IST
  • राज्य में अंतरराज्यीय बस सेवा शुरू होने के बाद परिवहन विभाग ने नई गाइडलाइन जारी की है. जिसके मुताबिक यात्रियों को मास्क पहनना जरूरी होगा और बस में सवारी करने वाले सभी यात्रियों का मोबाइल नंबर, पता समेत सारी जानकारी रखनी होगी.
परिवहन विभाग ने यात्रियों, बस मालिकों और ड्राइवरों के लिए जारी की नई गाइडलाइन (प्रतीकात्मक तस्वीर)

रांची. झारखंड में अंतरराज्यीय बस सेवा शुरू होने के बाद यात्रियों, बस मालिकों और ड्राइवरों के लिए नई गाइडलाइन जारी की गई है. जिसके तहत बस में यात्रा के दौरान यात्रियों को मास्क पहनना जरूरी होगा. प्रत्येक यात्रा के पहले बस को सैनिटाइज कराना अनिवार्य होगा. बस में यात्रा करने वाले सभी यात्रियों का मोबाइल नंबर और पता समेत सारी जानकारी ड्राइवरों को रखनी होगी. इसके अलावा यात्रा के दौरान किसी को भी धूम्रपान, पान, गुटका, खैनी आदि खाना और सार्वजनिक स्थानों या बस स्टैंड पर थूकना सख्त मना होगा. परिवहन विभाग ने कोरोना के खतरे को ध्यान में रखते हुए इस नई गाइडलाइन को जारी किया है.

परिवहन विभाग की ओर से सभी वाहन मालिकों के लिए आदेश है कि सभी वाहनों के ड्राइवर, कंडक्टर और अन्य सहकर्मियों का कोरोना टीकाकरण कराना वे सुनिश्चित करें. साथ ही यात्रियों से भी गुजारिश की गई है कि वे अधिक से अधिक संख्या में वैक्सीनेशन कराकर यात्रा करें. विभाग ने यह भी निर्देश दिया है कि यात्रा के दौरान वाहनों की खिड़कियां खुली रखें. जिससे हवा का क्रॉस वेंटिलेशन हो सके. बता दें कि यात्रा के लिए बसों को सक्षम प्राधिकार की ओर से परमिट प्राप्त होना जरूरी है. इस परमिट को ही बसों के लिए आवागमन पास माना जाएगा. बस अपने परमिट प्राप्त रूटों पर ही चलेगी और परमिट में आवंटित स्टॉप पर ही रुकेगी.

Govt Jobs: SSC की 25 हजार पदों पर भर्ती, नोटिफिकेशन जारी, ऐसे करें अप्लाई

राज्य में कंटनमेंट जोन में स्थानीय जिला प्रशासन के निर्देशों के अनुसार ही कार्य किया जाएगा. इन स्थानों पर वाहनों को रोकना, खाना-पीना और अन्य क्रियाओं के साथ घूमना-फिरना मना होगा. परिवहन विभाग ने आदेश दिया है कि किसी भी वाहन मालिक की ओर से किसी भी प्रकार के वाहन किराए में बढ़ोतरी नहीं की जाएगी. वाहनों में निर्धारित सीट के अलावा एक भी यात्री को नहीं बैठाया जाएगा. इसके अलावा सार्वजनिक बसों में प्रवेश और निकासी के गेट अलग रखने होंगे अथवा प्रवेश और निकासी करने वाले यात्रियों को अलग-अलग समय पर अनुमति देनी होगी. साथ ही लोगों को बस में चढ़ने और उतरने पर सामाजिक दूरी का पालन करना होगा. इसे सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी कंडक्टर की होगी.

अन्य खबरें