झारखंड: कोरोना जांच में CT Value 35 तक माने जाएंगे पॉजिटिव, RIMS ने दी जानकारी

Smart News Team, Last updated: Tue, 13th Apr 2021, 9:15 PM IST
  • अब कोरोना की जांच के दौरान सीटी वैल्यू 35 तक आने वालों को पॉजिटिव माना जाएगा. वहीं 35 से ऊपर वालों को निगेटिव माना जाएगा. मंगलवार को रिम्स की ओर से कोविड पॉजिटिव के मानकों के बारे में हाईकोर्ट में शपथपत्र दाखिल करके यह जानकारी दी गई.
झारखंड: कोरोना जांच में सीटी वैल्यू 35 तक माने जाएंगे पॉजिटिव, RIMS ने दी जानकारी

रांची. मंगलवार को रिम्स की ओर से हाईकोर्ट में शपथपत्र दाखिल कर कोविड पॉजिटिव के मानकों के बारे में बताया गया. जिसके अनुसार यदि कोविड टेस्ट करते वक्त सीटी वैल्यू 35 तक रहेगी तो इसे पॉजिटिव माना जाएगा. वहीं सीटी वैल्यू के 35 से अधिक आने पर इसे निगेटिव माना जाएगा. दरअसल एक जनहित याचिका में कोविड पॉजिटिव के निर्धारित मानकों का पालन न करने का राज्य सरकार पर आरोप लगाया गया था. इस याचिका पर हाईकोर्ट ने सुनवाई करते हुए रिम्स से कोविड पॉजिटिव के मानकों पर स्थिति स्पष्ट करने का निर्देश दिया था.

इस याचिका के अनुसार आइसीएमआर के मानकों एवं निर्देशों का पालन करना सभी सरकारों की बाध्यता है. लेकिन इसका पालन झारखंड में नहीं किया जा रहा है. आइसीएमआर ने सीटी वैल्यू 35 तक को कोरोना टेस्ट के दौरान पॉजिटिव के दायरे में रखा है. जबकि सीटी वैल्यू 32 तक को ही झारखंड में पॉजिटिव माना जा रहा है. इस कारण जांच के दौरान इससे अधिक सीटी वैल्यू वालों को निगेटिव घोषित किया जा रहा है. जिसका विपरीत प्रभाव पड़ रहा है. क्योंकि सीटी वैल्यू 35 वाले लोग भी पॉजिटिव रहे हैं और वे दूसरों को संक्रमण फैला रहे है.

इलाज के कमी से अस्पताल में कोरोना मरीज की मौत, परिजन ने मंत्री को सुनाई खरी-खोटी

याचिका दायर करने वाले प्रार्थी की ओर से बताया गया कि आइसीएमआर के कोरोना पॉजिटिव मानकों का पालन न करने से राज्य में कोरोना के संक्रमण में बढ़त हो रही है. ऐसे कई उदाहरण है जिनमें परिवार के एक सदस्य की जांच के दौरान सीटी वैल्यू 32 से अधिक होने पर उन्हें निगेटिव बताया गया. लेकिन उनसे परिवार के अन्य सदस्य संक्रमित हो गए. जबकि संक्रमित होने वाले ये सदस्य न तो कहीं बाहर गए और न ही बाहरी लोगों के संपर्क में आए.

IIM रांची में बतौर सहायक अध्यापक छात्रों को अर्थशास्त्र पढ़ाएंगे रंजीत रामचंद्रन

वहीं रिम्स की ओर से बताया गया कि कुछ कंपनियों के चिप में 32 से अधिक सीटी वैल्यू को निगेटिव बताया जा रहा था. हालांकि अब ऐसा नहीं है. अब जिनकी जांच के दौरान सीटी वैल्यू 35 तक आ रही है, उन्हें पॉजिटव माना जा रहा है.

रांची : पूर्व मंत्री और JMM के कद्दावर नेता साइमन मरांडी का निधन

अन्य खबरें