नई जल कर नीति के खिलाफ रांची मेयर का 17 नवंबर को धरना, पानी कनेक्शन चार्ज 500 से बढ़कर 7000 हुआ

Somya Sri, Last updated: Sun, 14th Nov 2021, 12:57 PM IST
  • झारखंड में उपभोक्ताओं के लिए पानी का नया कनेक्शन लेना अब 14 गुना महंगा हो गया है. पहले जहां 500 रुपये में पानी का नया कनेक्शन मिल जाता था वहीं अब इसके लिए 7000 रुपये अदा करने होंगे. वहीं 5 हजार लीटर पानी से ज्यादा का खर्च करने पर 9 रुपए टैक्स के रूप में देना होगा जबकि पहले यह टेक्स 6 रुपये था. झारखंड की इस नई जल कर नीति के खिलाफ रांची की मेयर आशा लकड़ा ने 17 नवंबर को राजभवन के समक्ष धरना देने का ऐलान किया है.
नई जल कर नीति के खिलाफ रांची मेयर का 17 नवंबर को धरना, पानी कनेक्शन चार्ज 500 से बढ़कर 7000 हुआ (प्रतिकात्मक फोटो)

रांची: झारखंड की नई जल कर नीति के खिलाफ रांची की मेयर आशा लकड़ा ने 17 नवंबर को राजभवन के समक्ष धरना देने का ऐलान किया है. नई जल कर नीति के मुताबिक प्रदेश में पानी का कनेक्शन लेना 14 गुना महंगा हो गया है. पानी कनेक्शन लेने की चार्ज जहां पहले 500 रुपये थी वह बढ़कर अब 7000 हो गई है. वहीं अगर कोई परिवार 5 हजार लीटर पानी से ज्यादा का खर्च करेगा तो उसे वाटर टैक्स के रूप में 9 रुपए अदा करने होंगे जबकि पहले यह टेक्स 6 रुपये था. बता दें कि झारखंड की नई जल कर नीति में अब बीपीएल को भी शामिल कर लिया गया है.

गैर कानूनी तरीके से लागू हुआ- रांची मेयर

रांची मेयर आशा लकड़ा ने कहा," राज्य सरकार की नई जल कर नीति नगर निगम की परिषद की बैठक में प्रस्ताव के पारित होने के बाद लागू होनी थी लेकिन परिषद के द्वारा इस प्रस्ताव को पारित नही किया था. बावजूद राज्य सरकार ने इस नई अधिसूचना को गैर कानूनी तरीके से लागू किया गया है. पूर्व में रांची नगर निगम परिषद की बैठक में इस प्रस्ताव पर रोक लगाते हुए नगर आयुक्त से विस्तृत जानकारी मांगी गई थी परंतु उन्होंने जानकारी दिए बिना ही निगम परिषद की बैठक में इस प्रस्ताव को लाया, जिसका सभी पार्षदों ने विरोध किया." उन्होने कहा कि सिर्फ उन्हीं इलाको में नए वाटर कनेक्शन को मुफ्त किया गया है जहां नई पाइपलाइन बिछाई जा चुकी है.

प्रेमी, प्रेमिका और 'वो' का खौफनाक अंजाम! युवक-युवती की हत्या, लव ट्रायंगल की कहानी

जल कर नीति में बेतहाशा वृद्धि

प्राची मेयर आशा लकड़ा ने सामाजिक, धार्मिक और राजनीतिक संगठनों को इस धरना में शामिल होने की अपील की है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने जल का निधि में बेतहाशा वृद्धि की है उन्होंने बताया पहले वॉटर कनेक्शन चार्ज 500 से 14 गुना बढ़ाकर 7000 कर दिया गया है. वहीं 5000 लीटर पानी से ज्यादा लीटर पानी लेने पर 6 रुपये टैक्स की जगह 9 रुपये देना पड़ेगा. साथ ही 50000 लीटर से ज्यादा पानी के इस्तेमाल करने पर 11 रुपये का टैक्स भरना होगा.

रांची : शिक्षा मंत्री से मिला आश्वासन, पारा शिक्षकों ने रद्द की 15 नवंबर की धरना प्रदर्शन

झारखंड की नई जल कर नीति

गौरतलब है कि झारखंड सरकार ने पिछले साल राज्य में जल कार्य, जल अधिभार, जल संयोजन नियमावली-2020 को मंजूरी दी थी. नई नियमावली के तहत अब नए वाटर कनेक्शन के लिए प्रति वर्ग फीट आवास के हिसाब से लोगों को राशि का भुगतान करना पड़ेगा. दरअसल, नए दरों के निर्धारण के लिए तार पारा मीटर तय किए गए हैं. आवासीय उपभोक्ता, सांस्थिक सरकारी उपभोक्ता, वाणिज्यिक उपभोक्ता और औधोगिक उपभोक्ता के लिए अलग-अलग दरें तय की गई हैं. जबकि इनमें सबसे ज्यादा बोझ आवासीय उपभोक्ता पर पड़ा है. जबकि सांस्थिक व सरकारी उपभोक्ता, वाणिज्यिक उपभोक्ता से कनेक्शन के लिए प्रति वर्ग फीट 26 रूपए की दर से चार्ज लिया जाएगा.

अन्य खबरें