मधुपुर में JMM के हफीजुल हसन ने 5292 वोटों से दर्ज की शानदार जीत,BJP को मिली हार

Smart News Team, Last updated: 02/05/2021 11:04 PM IST
मधुपुर सीट पर हुए उपचुनाव में जेएमएम के हफीजुल हसन ने 5292 वोटों से शानदार जीत हासिल की है. चुनाव में बीजेपी के प्रत्याशी गंगा नारायण सिंह दूसरे स्थान पर रहे हैं. इस सीट पर झामुमो नेता और प्रदेश के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री हाजी हुसैन अंसारी के निधन के बाद दोबारा चुनाव करवाए गए हैं.
मधुपुर सीट पर जेएमएम प्रत्याशी हफीजुल हसन ने 5292 वोटों से शानदार जीत हासिल की है

रांची. झारखंड की मधुपुर विधानसभा सीट की मतगणना के परिणाम जारी किए जा चुके हैं. आपको बता दें कि प्रदेश में सत्तारूढ़ झारखंड मुक्ति मोर्चा के हफीजुल हसन ने 5292 वोटों के अंतर से भाजपा प्रत्याशी गंगा नारायण सिंह को हराया है. गौरतलब है कि 24 चरणों की गिनती के बाद मधुपुर विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव के परिणाम की घोषणा की गई है.

बताते चलें कि बीजेपी के उम्मीदवार गंगा नारायण सिंह 24 चरणों के बाद 105491वोटों के साथ दूसरे नंबर पर हैं. वहीं JMM के हफीजुल हसन अब 110783 मतों के साथ आगे हो गए हैं. इससे पहले 24 राउंड की गिनती पूरी होते-होते जेएमएम ने निर्णायक बढ़त बना ली थी. मतगणना केंद्र पर दोनों दलों के समर्थक मौजूद हैं. प्रशासन भी पूरी सतर्कता से स्थिति पर नजर बनाए हुए है.

मधुपुर की जिला निर्वाचन पदाधिकारी और उपायुक्त नैंसी सहाय ने बताया कि ECI के पोर्टल पर तकनीकी समस्या के कारण मतगणना से जुड़ी जानकारी अपलोड नहीं हो पा रही हैं. इस वजह से मतगणना से जुड़ी जानकारी साझा करने में देरी हो रही है. जल्द ही इससे जुड़ी और मतगणना को लेकर जानकारी दी जाएगी. इसके अलावा मतगणना से जुड़ी प्रकिया सामान्य प्रेक्षक की देखरेख में लगातार चल रही हैं.

ज्ञात हो कि झामुमो नेता और प्रदेश के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री हाजी हुसैन अंसारी के निधन के बाद मधुपुर विधानसभा सीट खाली हो गई थी. मधुपुर में पिछले महीने 17 अप्रैल को उपचुनाव के लिए वोटिंग हुई थी जिसकी मतगणना रविवार सुबह से हो रही है. इस सीट पर झामुमो ने मंत्री हाजी हुसैन अंसारी के बेटे हफीजुल हसन को अपना प्रत्याशी बनाया है और बीजेपी ने गंगा नारायण सिंह को मैदान में उतारा है. गंगानारायण सिंह पहले सुदेश महतो की पार्टी आजसू के नेता थे. प्रदेश में हुए विधानसभा चुनाव में उन्होंने इसी सीट से बीजेपी के उम्मीदवार को हराने में प्रमुख भूमिका निभाई थी. लेकिन उपचुनाव से पहले वे बीजेपी में शामिल हो गए.

अन्य खबरें