JPSC mains exam : 28 से 30 जनवरी तक दो पाली में होगी परीक्षा, आज से मिलेगा एडमिट कार्ड

Uttam Kumar, Last updated: Tue, 18th Jan 2022, 7:04 AM IST
  • झारखंड लोक सेवा आयोग द्वारा 7 वीं से 10 वीं संयुक्त सिविल सेवा की मुख्य परीक्षा का कार्यक्रम जारी कर दिया गया है. जेपीएससी सिविल सर्विस की मुख्य परीक्षा 28 से 30 जनवरी तक दो पाली में आयोजित की जाएगी. वहीं जेपीएससी सिविल सर्विस की मुख्य परीक्षा का प्रवेश पत्र 18 जनवरी को जारी किया जाएगा.
JPSC mains exam : झारखंड कंबाइंड सिविल मुख्य सर्विस परीक्षा 28 से 30 जनवरी तक होगी. (फाइल फोटो)

रांची. झारखंड लोक सेवा आयोग ने सातवीं से 10वीं संयुक्त सिविल सेवा की मुख्य परीक्षा(JPSC mains exam) का कार्यक्रम जारी कर दिया है. जेपीएससी की मुख्य परीक्षा 28 से 30 जनवरी तक दो पाली में आयोजित की जाएगी. तय कार्यक्रम के अनुसार आज 18 जनवरी को मुख्य परीक्षा के लिए एडमिट कार्ड जारी किया जाएगा. सभी अभ्यार्थी जेपीएससी की आधिकारिक वेबसाईट से इसे डाउनलोड कर सकेंगे. आपको बता दे 252 पदों पर भर्ती के लिए आयोजित की जा रही सातवीं से 10वीं जेपीएससी मुख्य परीक्षा में कुल 4244 अभ्यर्थी शामिल होंगे.  

जेपीएससी द्वारा जारी कार्यक्रम के अनुसार 28 जनवरी को मुख्य परीक्षा का पेपर वन और पेपर टू की परीक्षाएं होगी. वहीं,  29 जनवरी को पेपर थ्री और पेपर फोर तथा 30 जनवरी को पेपर फाइव और पेपर सिक्स की परीक्षा होगी. पहली पाली की परीक्षाएं 10 बजे से एक बजे तक होगी. वहीं दूसरी की दो बजे से पांच बजे तक होगी.  मुख्य परीक्षा के लिए किए गए ऑनलाइन आवेदन में भाषा और साहित्य विषय के लिए चयनित विषय के लिए ही प्रवेश पत्र निर्गत किया जाएगा. 

झारखंड बोर्ड: मैट्रिक और इंटरमीडिएट परीक्षा एक ही टर्म में होंगे, जानें डिटेल

प्रारंभिक परीक्षा में सफल छात्र – छात्राओं को ही मुख्य परीक्षा में शामिल होने का मौका मिलेगा. अभ्यर्थी 18 जनवरी से अपनी जन्म तिथि और प्रारंभिक परीक्षा का रौल नंबर डालकर मुख्य परीक्षा का एडमिट कार्ड डाउनलोड कर सकेंगे. प्रारम्भिक परीक्षा पास कर चुकी जिन अभ्यर्थियों का प्रवेश पत्र डाउनलोड नहीं हो पा रहा हो, वह 25 जनवरी तक अपना नाम, पिता का नाम, जन्म  तिथि और रजिस्ट्रेशन नंबर के साथ आवेदन देकर अपना एडमिट कार्ड प्राप्त कर सकते हैं. 

जेपीएससी आयोग द्वारा निर्देश के अनुसार अभ्यर्थियों प्रवेश पत्र डाउनलोड करने के बाद परीक्षा केंद्र की नाम की जांच कर लें. अगर प्रवेश पत्र में किसी प्रकार की कोई गलती है तो उसे 25 जनवरी तक आयोग में आकर सुधार करवा सकते हैं. इसके अलावा वैसे दिव्यांग अभ्यर्थी जिन्हें परीक्षा लिखने के लिए लेखक की आवश्यकता होती है वे संबंधित केंद्र के केंद्राधीक्षक को 25 जनवरी तक अपने प्रवेश पत्र, चिकित्सा प्रमाणपत्र के साथ पहचान पत्र देकर प्रार्थना पत्र देंगे. इसके आधार पर स्नातक से कम पढ़ लिखे को ही दिव्यांग अभ्यर्थी परीक्षा लिखने के लिए लेखक के रूप में ला सकेंगे.  

 

अन्य खबरें