रिम्स के जूनियर डॉक्टर सिराजुद्दीन का कोरोना से निधन, मेडिका हॉस्पिटल में थे भर्ती

Smart News Team, Last updated: Mon, 10th May 2021, 2:00 PM IST
  • रांची के रिम्स अस्पताल में जूनियर डॉक्टर सिराजुद्दीन का निधन हो गया. कोरोना ड्यूटी करने के दौरान जूनियर डॉक्टर संक्रमित हो गए थे जिसके बाद उन्हें मेडिका हॉस्पिटल में भर्ती कराया था. रिम्स जेडीए ने सरकार से फ्रंटलाइन वर्करों को दिये जाने वाले मुआवजे की मांग की है.
रिम्स के जूनियर डॉक्टर सिराजुद्दीन का मेडिका हॉस्पिटल में निधन.

रांची: देशभर में कोरोना का संक्रमण फैलता ही जा रहे है. झारखंड के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल रिम्स ( RIMS ) के जूनियर डॉक्टर सिराजुद्दीन का सोमवार की सुबह मेडिका हॉस्पिटल में निधन हो गया. कुछ दिनों पहले कोरोना संक्रमित होने के बाद डॉक्टर सिराजुद्दीन को अस्पताल में भर्ती कराया था. 2010 में एमबीबीएस ( MBBS ) करने के बाद वह रिम्स में डीटीएमएच( DTM&H ) के अंतिम वर्ष के छात्र थे. 

रिम्स में कोरोना ड्यूटी के दौरान जूनियर डॉ. सिराजुद्दीन संक्रमित हो गए थे. जिसके बाद उन्हें रांची मेडिका अस्पताल में भर्ती कराया गया था. अस्पताल में भर्ती होने के बाद कुछ दिनों से डॉ की हालत में कोई सुधार नहीं हो रहा था. सोमवार की सुबह डॉ. सिराजुद्दीन ने मेडिका हॉस्पिटल में अंतिम सांस ली. डॉ. सिराजुद्दीन के शव को मेडिका से रिलीज कर दिया गया है. डॉ. सिराजुद्दीन के मौत के बाद रिम्स जेडीए ने सरकार से फ्रंटलाइन वर्करों को दिये जाने वाले मुआवजे की मांग की है.

रांची में कोरोना संक्रमण के कारण धोनी के फार्म हाउस में गौशाला का उद्घाटन टला

पिछले कुछ दिनों के मुकाबले झारखंड में कोरोना संक्रमण के मामलों में कमी तो आई है लेकिन इंफेक्शन से मौत के मामले कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं. सबसे ज्यादा बुरा राजधानी रांची का है जहां एक तिहाई मौत केवल रांची में ही हो रही है. राज्य में पिछले 9 दिनों से 1183 मरीजों की मौत हुई है, जिसमें से 364 मौत अकेले रांची में हुई. वहीं दूसरे नंबर पर पूर्वी सिंहभूम है.

कालाबाजारी में जब्त ऑक्सीजन सिलेंडर का इमरजेंसी में करें इस्तेमाल: झारखंड HC

हेमंत सोरेन का बड़ा फैसला, किसानों की ओलावृष्टि से खराब हुई फसलों की भरपाई करेगी सरकार

अन्य खबरें