रांची: नकली नोट गिरोह का भंडाफोड़, बिहार के गया से होती थी सप्लाई, तीन आरोपी गिरफ्तार

ABHINAV AZAD, Last updated: Mon, 20th Dec 2021, 9:48 AM IST
  • कोडरमा डीएसपी संजीव कुमार ने नकली नोट गिरोह के सदस्य रानी वर्मा, उदय कुमार और बबीता खलखो को गिरफ्तार किया है. इस गिरोह को बिहार के गया से नकली नोटों की सप्लाई की जाती है. गिरोह का सरगना गिरिडीह निवासी पप्पू वर्मा फरार है.
(प्रतीकात्मक फोटो)

रांची. कोडरमा डीएसपी संजीव कुमार ने नकली नोट गिरोह का खुलासा किया है. डीएसपी ने बताया कि इस गिरोह को बिहार से नकली नोटों की आपूर्ति होती है. रानी वर्मा, उदय कुमार और बबीता खलखो इस गिरोह की सक्रिय सदस्य है. बबीता खलखो के बयान के आधार पर पेठियाबागी बाजार स्थित आदित्य वर्मा के मोबाइल दुकान से 11 हजार पांच सौ रूपए के जाली नोट बरामद किए गए. वहीं बबीता खलखो के पास से एटीएम कार्ड, आधार कार्ड, वोटर कार्ड समेत मोबाइल भी पाए गए हैं.

मिली जानकारी के मुताबिक, रानी वर्मा के पास से 10 हजार रूपए का जाली नोट बरामद हुआ. रानी वर्मा और बबीता खलखो के बयान के आधार पर गिरिडीह जिला अंतर्गत ग्राम अरारी, थाना बिरनी स्थित प्रवीण कुमार के घर से 31 सीट पाए गए, जिसमें सौ-सौ रूपए के तीन-तीन नोट छपे हुए थे. बताया जा रहा है कि जाली नोट तस्करों के गिरोह का सरगना गिरिडीह का पप्पू वर्मा है. जो फरार चल रहा है.

रांची में JMM का केंद्रीय महाधिवेशन, पूर्व CM शिबू सोरेन फिर चुने गए अध्यक्ष

कोडरमा में गिरफ्तार तस्करों ने बताया कि 10 फीसदी कमीशन पर जाली नोट बाजार में खपा रहे थे. गिरिडीह जिले के बाजारों में करीब डेढ़ लाख रूपए खपा चुके हैं. डीएसपी संजीव कुमार ने बताया कि गिरोह के अन्य तस्करों को भी जल्द दबोच लिया जाएगा. इस बीच रानी वर्मा और बबीता ने बताया कि बिहार के गया जिले से उन्हें जाली नोट मिलता है. एक बार में 10 हजार रूपए का जाली नोच उन्हें दिया जाता है. जब यह नोट खप जाते हैं, तो फिर 10 हजार रूपए दिए जाते हैं. जाली नोट का सरगना गिरिडीह का है. इसी गिरोह ने गिरिडीह के कई थाना क्षेत्र में भी जाली नोट चलाए हैं. बताते चलें कि कोडरमा डीएसपी संजीव कुमार ने नकली नोट गिरोह का खुलासा किया है. डीएसपी ने बताया कि इस गिरोह को बिहार से नकली नोटों की आपूर्ति होती है. रानी वर्मा, उदय कुमार और बबीता खलखो इस गिरोह की सक्रिय सदस्य है.

अन्य खबरें