BJP नेता जीतराम मुंडा की हत्या में बड़ा खुलासा, मनोज मुंडा के कहने पर PFLI के शूटर ने मारी थी गोली

Somya Sri, Last updated: Sat, 25th Sep 2021, 5:00 PM IST
  • रांची पुलिस के मुताबिक जीतराम मुंडा की हत्या के पीछे ओरमांझी के साहिल गांव में रहने वाले मनोज मुंडा का हाथ है. सूत्रों के मुताबिक मनोज मुंडा को शक था कि जीतराम मुंडा ने ही उसे उसकी पत्नी की हत्या में फंसा कर 7 साल की जेल करवा दी.
भाजपा नेता जीतराम मुंडा (फाइल फोटो)

रांची: रांची जिला भाजपा अनुसूचित जाति जनजाति मोर्चा के अध्यक्ष जीतराम मुंडा की हत्या का खुलासा हो गया है. रांची पुलिस के मुताबिक जीतराम मुंडा की हत्या के पीछे ओरमांझी के साहिल गांव में रहने वाले मनोज मुंडा का हाथ है. सूत्रों के मुताबिक मनोज मुंडा ने ही पीएलएफआई से आग्रह कर जीतराम की हत्या के लिए शूटर भिजवाई थी. फिलहाल पुलिस इस मामले पर दो संदिग्धों से पूछताछ कर रही है.

मिली जानकारी के मुताबिक पुलिस को जांच में यह पता चला है कि जीतराम मुंडा जिस वक्त पुतला दहन कार्यक्रम में शामिल हुए थे. उस दिन ही उनकी हत्या की कहानी रच दी गयी थी. बताया जा रहा है कि जीतराम मुंडा पुतला दहन कर पालू के एक होटल में राजकिशोर के साथ बैठे थे. जब वह होटल से निकले और अपनी कार के पास पहुंचे. तब मोटरसाइकिल पर सवार शूटरों ने जीतराम मुंडा पर निशाना लगाकर उनके सिर पर गोली मार दी थी. गोली इतनी तेज थी कि जीतराम मुंडा के सिर से गोली आर पार होकर पास में ही बैठे होटल संचालक राजकिशोर साहू की हथेली में जा धंसी थी. शूटर अपनी वारदात को अंजाम देने के बाद मौके से फरार हो गए थे.

झारखंड सरकार गरीब मेधावी छात्रों को विदेश में पढ़ने का देगी मौका, नई योजना की शुरुआत

सूत्रों के मुताबिक मनोज मुंडा ने पीएलएफआई से आग्रह कर शूटरों को जीतराम मुंडा की हत्या करने के लिए भेजा था. बताया जा रहा है कि इस वारदात के बाद मनोज मुंडा फरार है. मनोज मुंडा की तलाश में पुलिस छानबीन कर रही है. सूत्रों के मुताबिक मनोज मुंडा को शक था कि जीतराम मुंडा ने ही उसे उसकी पत्नी की हत्या में फंसा कर 7 साल की जेल करवा दी. मनोज मुंडा जब जेल से निकला था तो उसने जीतराम मुंडा की हत्या करने की कोशिश की थी. लेकिन, निशाना चुकने की वजह से वो अपने मनसूबे में कामयाब नहीं हो पाया था.

बता दें कि मनोज मुंडा की पत्नी की करंट लगने से मौत हो गयी थी. बताया जाता है कि जीत राम मुंडा और मनोज मुंडा की पत्नी पूर्व परिचित थे. संयोग से उसकी शादी जीतराम के साथ नहीं हुई. इसके बावजूद जीतराम मनोज की पत्नी के साथ लगातार बातचीत करता रहता था. इसकी भनक मिलने पर मनोज ने कई बार जीतराम को चेताया भी था.

अन्य खबरें