MP: नई शिक्षा नीति के तहत BE के सिलेबस में रामचरितमानस शामिल, संस्कृति को मिलेगा बढ़ावा

Priya Gupta, Last updated: Tue, 14th Sep 2021, 2:15 PM IST
  • एमपी सरकार ने नई शिक्षा नीति के तहत BE के सिलेबस में रामचरितमानस शामिल किया है. 
नई शिक्षा नीति के तहत BE के सिलेबस में रामचरितमानस शामिल

इंदौर: मध्य प्रदेश में नई शिक्षा नीति को कुछ महीने पहले लागू करने का फैसला किया गया था. इसके साथ ही मध्यप्रदेश सरकार ने बड़ा फैसला किया है. अब से BE के पाठ्यक्रम में रामचरितमानस को वैक्लीप तौर पर दर्शन विषय के रूप में शामिल किया है. इसके लिए 100 अंको की परीक्षा भी ली जाएगी. मध्य प्रदेश सरकार ने रामचरितमानस को सिलेबस में शामिल करते हुए कहा है कि नयी शिक्षा नीति के तहत अपने गौरवशाली अतीत और महान संस्कृति के अध्ययन करना सराहनीय कदम है.

बता दें, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कुछ महीने पहले ही राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 लागू किया है. इसके लिए उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद भी किया था. उन्होंने कहा कि नवीन शिक्षा नीति से विद्यार्थियों को ज्ञान, कौशल और नागरिकता के संस्कार मिलेंगे.गुरुवार को भोपाल में राज्यपाल मंगुभाई पटेल और उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव के साथ राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 का औपचारिक रूप से शुभारंभ किया था.

NHRC ने अपनाया सख्त रवैया, UP समेत 3 राज्यों को नोटिस भेजकर किसान आंदोलन पर मांगी रिपोर्ट

देशभर के शैक्षण‍िक संस्थानों में नेशनल एजुकेशन पॉलिसी लागू की जानी है. देश में सबसे पहले कर्नाटक नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NEP), 2020 को लागू किया था. मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने इस बारे में कहा था कि सरकार इस नई शिक्षा नीति को लागू करने में मदद करने के लिए डिजिटलीकरण और अनुसंधान एवं विकास की दो नीतियों को शुरू करेगी.

अन्य खबरें