कोरोना का रिश्तों पर असर- अस्पताल में पॉजिटिव बुजुर्ग मां को छोड़ भागे बेटे-बहू

Smart News Team, Last updated: Fri, 21st May 2021, 8:56 AM IST
  • रांची में एक बुजुर्ग महिला को बेटे-बहू और बेटी-दामाद ने लावारिश छोड़ दिया. इसके बाद यह खबर कई मीडिया संस्थानों की खबर बनी. लोगों ने बेटे-बहू और बेटी-दामाद को खूब कोसा. जिसके बाद परिजन उसे वृद्धाश्रम से वापस ले गये.
झारखंड में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर का कहर जारी है. (प्रतिकात्मक फोटो)

रांची- कोरोना का असर जहां सामाजिक-आर्थिक ताने-बाने पर पड़ा वहीं, कई पारिवारिक रिश्ते-नाते भी लगातार टूट रहे हैं. ताजा मामला राजधानी रांची का है. दरअसल, रांची में एक बुजुर्ग महिला को बेटे-बहू और बेटी-दामाद ने लावारिश छोड़ दिया. इसके बाद यह खबर कई मीडिया संस्थानों की खबर बनी. लोगों ने बेटे-बहू और बेटी-दामाद को खूब कोसा. जिसके बाद परिजन उसे वृद्धाश्रम से वापस ले गये.

मिली जानकारी के मुताबिक, 29 अप्रैल को रांची सदर अस्पताल में परिजनों ने एक वृद्धा को भर्ती कराया. लेकिन अपना नाम और पता ठीक तरह से दर्ज नहीं करवाया. इसके बाद वृद्धा के परिजन उसे छोड़ कर चले गये. लेकिन इस दौरान बुजुर्ग महिला ने अदम्य साहस का परिचय दिया और कोरोना संक्रमण से जंग जीत लिया. लेकिन कोरोना को मात देने के बाद भी बुजुर्ग महिला अकेली रह गई. उसे कोई लेने नहीं आया.

हवलदार ने रांची SSP की गाड़ी रोकी तो मिला इनाम, जानें क्यों हुई तारीफ

इस दौरान हॉस्पिटल के डॉक्टरों और नर्सों ने बुजुर्ग महिला का पूरा ख्याल रखा. उनका बिस्तर और बेडशीट तक साफ किया. बाल गूंथने से लेकर कपड़ा बदलने-पहनाने समेत कई तरह की सेवा नर्स दीदियों ने किया. हॉस्पिटल के स्टाफ सोचते रहे कि कोई परिजन लेने तो आएगा. लेकिन कई दिन बीत जाने के बाद भी कोई लेने नहीं आया. बताया जा रहा है कि महिला तेलुगु भाषी थी, इसलिए उसकी कई बातें समझने में दिक्कतों का सामना करना पड़ा. जिसके बाद प्रशासन की पहल पर नगड़ी स्थित एक वृद्धा आश्रम भिजवा दिया गया.

झारखंड में महामारी घोषित की जाए ब्लैंक फंगस, CM सोरेन को भेजा प्रस्ताव

रांची एयरपोर्ट से दिल्ली, मुंबई, कोलकाता जाने वाली 11 फ्लाइट कैंसल, जानें वजह

झारखंड बोर्ड की 10वीं क्लास की परीक्षा हो सकती है रद्द, 1 जून को फैसला

दिल्ली से रांची पहुंचे यात्रियों को लगाया होम क्वारंटाइन का स्टांप, फिर जाने दिया घर

सावधान! कोरोना वैक्सीन स्लॉट बुक करते समय न हो जाएं साइबर क्राइम का शिकार, ऐसे बचें

अन्य खबरें