झारखंड सदर अस्पताल में लापरवाही! मरे हुए व्यक्ति को दी covid वार्ड की ड्यूटी

Smart News Team, Last updated: 03/05/2021 02:57 PM IST
  • रांची के सदर अस्पताल में बने कोविड वार्ड में व्यवस्था संभालने के लिए एक टीम बनाई गई तो उस लिस्ट में एक कोरोना से मृत व्यक्ति का भी नाम रखा गया है.
झारखंड सदर अस्पताल में लापरवाही! मरे हुए व्यक्ति को दी covid वार्ड की ड्यूटी

रांची। कोरोना काल के चलते मैनजमेंट का हाल कैसा हो गया है इस बात का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि रांची के सदर अस्पताल में व्यवस्था संभालने के लिए एक टीम बनाई गई है तो उस लिस्ट में एक कोरोना से मृत व्यक्ति का भी नाम रखा गया है. जब वह मृत व्यक्ति जिंदा था, तब तक वह जिला प्रशासन के आफिस जाकर अपनी मेडिकल रिपोर्ट जमा करवा कर टीम से अपना नाम हटाने की गुहार लगाता है. ऑफिस से रिसिंविंग मिलने के कुछ दिन बाद ही उस व्यक्ति की मौत हो हुई.

रांची के सदर अस्पताल में तैयार नए भवन के अंतर्गत तीसरे, चौथे व पांचवें तल्ले को कोविड वार्ड बनाया है और इस वार्ड की नियंत्रण एवं विधि-व्यवस्था संभालने के लिए नौ टीमों को तैयार किया गया है. इन टीमों में दंडाधिकारी, चिकित्सक, स्वास्थ्यकर्मी के साथ सहयोग के लिए शिक्षकों व अलग-अलग विभागों के कर्मियों को रखा गया है. इन नौ टीम में एक स्क्रीनिंग टीम भी है. इन्ही एक टीम में सहयोगी कर्मी के तौर पर गौरीदत्त मंडेलिया स्कूल के एक शिक्षक अजय कुमार को रखा गया है जबकि उनकी मृत्यु पहले ही हो चुकी है और एक अन्य शिक्षक आश्रित शमेंद्र खाखा को भी टीम में रखा गया है जो कि कोरोना संक्रमित हैं.

मधुपुर में JMM के हफीजुल हसन ने 5292 वोटों से दर्ज की शानदार जीत,BJP को मिली हार

बताते चलें कि शिक्षक अजय कुमार बीमार रहते थे और उनका इलाज वेल्लोर से चल रहा था. उन्होंने 20 अप्रैल को जिला प्रशासन कार्यालय जाकर मेडिकल रिपोर्ट सौंपकर कोविड सेंटर में ड्यूटी न लगाने की गुहार लगाई. वहां से उन्हेांने रिसिविंग भी लाकर स्कूल के प्राचार्य को दे दी. इसके बाद 23 अप्रैल को हुए टीम संशोधन के बाद भी अजय कुमार का नाम नहीं हटा. वहीं दूसरी तरफ 26 अप्रैल को शिक्षक अजय कुमार की मौत हो गई. 30 अप्रैल दोबारा आने पर टीम में संशोधन किया गया जिसमें फिर से मृतक शिक्षक अजय कुमार का नाम शामिल है.

रांची पुलिस की सख्ती- लॉकडाउन में नियम तोड़ने वालों पर लगाया भारी जुर्माना

इस मामले के बारे में गौरीदत्त मंडेलिया स्कूल प्रबंधन ने बताया कि शिक्षक अजय कुमार की मृत्यु 26 अप्रैल को रात में हो गई थी. प्राचार्य ने उसी दिन जिला शिक्षा पदाधिकारी व हेडमास्टर के वाट्सएप ग्रुप में शिक्षक की मृत्यु की सूचना दे दी थी. मृत शिक्षक अजय कुमार व पॉजिटिव शिक्षक आश्रित समेंद्र दोनों की ही ग्रुप ख के तहत रात 11 से सुबह 7 बजे तक की ड्यूटी लगाई गई है. इस स्लॉट में सिर्फ इन्ही दोनों कर्मियों की सहयोगी के रूप में ड्यूटी लगाई गई हैं. इस बात का पता लगाया जा रहा है कि जब ये दोनो कर्मी ही ड्यूटी पर मौजूद नहीं थे तो 30 अप्रैल को ड्यूटी पर कौन था.

अन्य खबरें