100 दिन में प्रधानमंत्री आवास नहीं बना तो कोर्डिनेटर की नौकरी जाएगी, BDO पर एक्शन भी

MRITYUNJAY CHAUDHARY, Last updated: Wed, 24th Nov 2021, 7:50 PM IST
  • झारखंड ग्रामीण आवास विभाग ने प्रधानमंत्री आवास के निर्माण की समस्य सीमा की घोषणा कर दी है. अगर झारखंड में 100 दिनों में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मकान का निर्माण नहीं हुआ तो कोआर्डिनेटर की नौकरी जाएगी. साथ ही बीडीओ के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई किया जाएगा.
100 दिन में प्रधानमंत्री आवास नहीं बना तो कोर्डिनेटर की नौकरी जाएगी, BDO पर एक्शन भी

रांची. झारखंड के ग्रामीण विकास विभाग ने प्रधानमंत्री आवास योजना की समय की घोषण कर दिया है. साथ ही ग्रामीण विकास विभाग ने पीएम आवास योजना को लेकर दिशा-निर्देश जारी किया है. ग्रामीण विकास विभाग ने निर्देश जारी किया है कि जिन प्रखंडों में तेजी से नहीं हो रहा है वहां के कोआर्डिनेटर अंतिम मौका दिया गया है. साथ ही कहा गया है कि यदि 100 दिनों में प्रधानमंत्री आवास तैयार नहीं होता है तो कोआर्डिनेटर कि नौकरी जाएगी. साथ ही बीडीओ के खिलाफ कार्रवाई किया जाएगा.

मिली जानकारी के अनुसार प्रधानमंत्री आवास योजना के निर्माण की जिम्मेदारी डीसी और डीडीसी की जगह राष्ट्रीय नियोजन कार्यक्रम और लेखा प्रशासन व स्व नियोजन के निदेशक को इसकी जिम्मेवारी दी गई है. वहीं 14 जिलों में पीडब्लूएल फाइनलाइज किया जाना बाकी है. प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास का निर्माण किया जाता है. जिसके निर्माण में कोआर्डिनेटर काफी समय लगा रहे है. जिसे देखते हुए ही आवास निर्माण के लिए समय सीमा जारी किया है.

अब झारखंड में नाम बदलने की राजनीति, रांची के हैदर गली का नया नाम बजरंग नगर

बता दें कि बीपीएल परिवार को पहले 1.20 लाख रुपये दिए जाते थे. जिसे केंद्र और राज्य सरकार के सहयोग से चल रहे पीएम आवास योजना के तहत राशि बढ़ाकर चार लाख रुपए करने की मांग की गई है. जिससे व्यावहारिक तौर पर घर बन सकें. साथ ही इसके लिए आगे आएं. इतना ही नहीं पीएम आवास योजना के लिए झरखंड को 4 जोन में बनता गया है. वहीं अब 8 8 तरह की संरचनाओं के इको फ्रेंडली आवास बनाए जाएंगे.

अन्य खबरें