रांची विधानसभा भवन में 'नमाज कक्ष' पर विरोध तेज, मंदिर बनाने की मांग पर BJP ने लगाए जय श्रीराम और हर हर महादेव के नारे

Pallawi Kumari, Last updated: Tue, 7th Sep 2021, 1:23 PM IST
  • झारखंड में नई विधानसभा भवन में अलग नमाज कक्ष दिया गया. राज्य के सभी जिलों में पार्टी कार्यकर्ताओं ने इसे लेकर विरोध जताया है. वहीं आज मंगलवार को बीजेपी विधानसभा में ढोल मंजिरा लेकर पहुंची और भजन-कीर्तन करने लगी. बीजेपी ने मंदिर बनाने की मांग में जय श्री राम और हर हर महादेव के नारे भी लगाए.
रांची विधानसभा भवन में 'नमाज कक्ष' को लेकर भाजपा का विरोध

रांची: गुरुवार 2 सितंबर को झारखंड के नई विधानसभा भवन में नमाज अदा करने के लिए कमरा नंबर TW-348 आवंटित किया है. विधानसभा सचिवालय की ओर से 2 सितंबर को ये आदेश जारी होते ही इसका विरोध शुरू हो गया. बीजेपी सहित राज्य के सभी जिलों में पार्टी कार्यकर्ताओं ने इसका विरोध जताया है. रविवार को नमाज कक्ष के खिलाफ भाजपा सड़क पर उतरीं औऱ सोमवार को विधानसभा में इस मुद्दे को लेकर सवाल उठाए गए. 

बीजेपी अलग नमाज कक्ष के बाद विधानसभा भवन में मदिर की मांग कर रही है.सोमवार सुबह से ही विभानसभी परिसर भक्ति में भक्ति का माहौल देखने को मिल रहा है. बीजेपी विधायर ढोल मंजिरा लिए हुए विधानसभी पहुंचे और भजन कीर्तन करने लगे. विधायकों ने मंदिर की मांग करते हुए जय श्री राम और हर हर महादेव के नारे भी लगाए. देवघर से भाजपा विधायक नारायण दास को पुजारी की वेशभूषा में नजर आएं. वहीं पूर्व स्पीकर और बीजेपी नेता सीपी सिंह झाल बजाते हुए दिखे.

अंडमान में बंधुवा मजदूर था पिता, बेटे ने सीएम सोरेन से लगाई थी फरियाद, 30 साल बाद हुई घर वापसी

बीजेपी विधायकों का कहना है कि नमाज कक्ष के विरोध तबतक जारी रहेगा जबतक नमाज के लिए आवंटित कमरा रद्द नहीं किया जाता. अगर इसे रद्द नहीं किया गया तो फिर अलग अलग धर्मों के लिए भी कमरे दिए जाने चाहिए.

बता दें कि, राज्य के सभी जिलों में पार्टी और भाजपा ने इस मामले में अलग अलग तरीके से विधोध करने की नीति बनाई है.आज 7 सितंबर को बीजेपी सभी जिला मुख्यालयों पर धरना-प्रदर्शन करेगी. कल 8 सितंबर को रांची में झारखंड विधानसभा के सामने बीजेपी धरना देगी. वहीं 9 सितंबर को पार्टी का प्रतिनिधिमंडल राज्यपाल से मुलाकात करेगा और उन्हें स्थिती की पूरी जानकारी दी जाएगी.

बिहार की बेटी 'तनु' बनी हौसले की मिसाल, दोनों हाथ गंवाने के बाद पैरों से लिखकर पहुंची दसवीं क्लास

अन्य खबरें