नगर निगम मेयर का आरोप, कहा- जिन प्रस्तावों पर लगी थी रोक, उन्हें पास कराने का बन रहा दबाव

Prachi Tandon, Last updated: Wed, 22nd Sep 2021, 11:27 PM IST
  • रांची नगर निगम की मेयर ने आयुक्त पर आरोप लगाया है कि वह बैठक में अडंगा लगा रहे हैं. मेयर ने आरोप लगाते हुए कहा कि जिन प्रस्तावों पर पूर्व की बैठकों में रोक लगाई गई है उन्हें पास करने के लिए दबाव बनाया जा रहा है.
रांची नगर निगम मेयर आशा लकड़ा ने लगाया आयुक्त पर आरोप(फाइल फोटो)

रांची. रांची नगर निगम की मेयर डॉ. आशा लकड़ा ने आयुक्त पर आरोप लगाया है कि वह निगर की बैठकों में अड़ंगा लगा रहे हैं. इसी के साथ नगर निगम के आयुक्त उन प्रस्तावों को पास करने के लिए दबाव बना रहे हैं जिनपर पहले की बैठकों में रोक लगाई गई थी. रांची नगर निगम मेयर का कहना है कि प्रस्तावों को पारित करने के लिए दबाव बनाया जा रहा है. आशा लकड़ा ने कहा कि नगर निगम आयुक्त की मंशा ठीक नहीं है.

नगर निगम की मेयर ने कहा कि जिन प्रस्तावों पर रोक लगाई गई थी उनकी विस्तृत जानकारी नगर आयुक्त से मांगी गई थी. जिसे अभी तक नहीं दिया गया है. मेयर आशा लकड़ा ने आरोप लगाया कि आयुक्त परिषद और अस्थाई सदस्यों को गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं. इसी के साथ उन्होनें आयुक्त पर निशाना साधते हुए सवाल किया कि वह संबंधित प्रस्तावों की विस्तृत जानकारी क्यों नहीं देना चाहते हैं. क्या उनमें कुछ गड़बड़ है, यह एक जांच का विषय है. मेयर आशा लकड़ा ने कहा केंद्र और राज्य सरकार जन सुविधाओं के लिए फंड देती है तो उसका सही प्रयोग किया जाना चाहिए. 

रांची में BJP एसटी मोर्चा के जिला अध्यक्ष की गोली मारकर हत्या, फायरिंग में एक घायल

मेयर ने बोर्ड की पूर्व बैठक में पेश किए गए प्रस्तावों को लेकर आपत्ति जताई थी. इनमें पुराने विधानसभा के सामने से जगन्नाथपुर जाने वाली रोड पर नई विधानसभा तक एक करोड़ 30 लाख की लागत से स्ट्रीट लाइट पोल समेत एलइडी लगाने का प्रस्ताव है. अन्य में रांची नगर निगम क्षेत्र के विभिन्न मोहल्लों में बार्ड में एलइडी लाइट के पैनल को टाइमर से जोड़ने का प्रस्ताव भी है. इन प्रस्तावों को लेकर मेयर का कहना है कि इसमें साफ किया जाना चाहिए कि यह काम कांट्रेक्ट के जरिए एजेंसी का चयन करके या फिर निविदा के जरिए एजेंसी का चयन करके कराया जाएगा. 

झारखंड सरकार के खर्चे पर 6 होनहार आदिवासी बच्चे ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में करेंगे पढ़ाई

मेयर ने रांची नगर निगम नियंत्रण के अधीन 5 पदों के संचालन मामले पर आयुक्त से सवाल किया कि क्या किसी खास एजेंसी को फायदा पहुंचाने के लिए बिना टेंडर जारी करे एजेंसी का चयन किया जा रहा है. इसी के साथ मेयर ने झारखंड नगर पालिका जल कार्य भार एवं जल संयोजना नियमावली से संबंधित प्रस्ताव पर भी आयुक्त से सवाल किया. 

अन्य खबरें