रांची: हेडल अंचल के बजरा मौजा के 35 एकड़ से अधिक जमीन की जमाबंदी होगी रद्द

Smart News Team, Last updated: Fri, 6th Nov 2020, 1:21 PM IST
राजधानी के हेडल अंचल के बजरा मौजा के 35 एकड़ से अधिक जमीन की जमाबंदी रद्द होगी. बताया जा रहा है कि यह जमीन गैरमजरूआ है, और इसकी जमाबंदी निजी लोगों को की गई है. जांच में खुलासा होने के बाद 20 लोगों को हेडल के अंचलाधिकारी ने जमाबंदी रद्द करने का नोटिस थमाया है. इसके लिए सभी को 18 नवंबर तक का वक्त दिया गया है. सभी से यह बताने को कहा गया है कि क्यों नहीं जमीन की जमाबंदी रद्द कर दी जाए. सभी लोगों से जमीन के दस्तावेज भी पेश करने को कहा गया है

रांची- राजधानी के हेडल अंचल के बजरा मौजा के 35 एकड़ से अधिक जमीन की जमाबंदी रद्द होगी. बताया जा रहा है कि यह जमीन गैरमजरूआ है, और इसकी जमाबंदी निजी लोगों को की गई है. जांच में खुलासा होने के बाद 20 लोगों को हेडल के अंचलाधिकारी ने जमाबंदी रद्द करने का नोटिस थमाया है. इसके लिए सभी को 18 नवंबर तक का वक्त दिया गया है. सभी से यह बताने को कहा गया है कि क्यों नहीं जमीन की जमाबंदी रद्द कर दी जाए. सभी लोगों से जमीन के दस्तावेज भी पेश करने को कहा गया है.

KBC: झारखंड की बेटी नाजिया नसीम बनीं कौन बनेगा करोड़पति 12 की पहली करोड़पति विनर

गौरतलब है कि यह जमीन बजरा मौजा के थाना संख्या 140,खाता संख्या 119 और प्लॉट 336 की है. खतियान में यह जमीन गैर मजरूआ दर्ज है. लेकिन इस जमीन की जमीन निजी लोगों के नाम जमाबंदी कर दी गई है. सरकारी और गैर मजरूआ जमीन की अवैध जमाबंदी की जांच के दौरान इस जमीन की अवैध जमाबंदी करने का मामला सामने आया है. इसके बाद इसकी जमाबंदी रद्द करने की प्रक्रिया शुरू की गयी. 35 एकड़ से अधिक इस गैर मजरूआ जमीन की अवैध जमाबंदी 20 लोगों के नाम पर की गयी है. जांच में पाया गया है कि एक कॉपरेटिव के नाम पर भी बड़े भूखंड की जमाबंदी की गयी है. जानकारी के मुताबिक जमीन की जब जमाबंदी हो रही थी, उस समय भी इसकी शिकायत की गयी थी, लेकिन इस पर कोई कार्रवाई नहीं की गयी.

रांची सर्राफा बाजार में सोना चांदी में दर्ज हुई गिरावट, क्या है आज का मंडी भाव

आपको बताते चलें कि रांची जिले में 450 एकड़ से अधिक जमीन की जमाबंदी की जांच की जा रही है. सरकारी, गैर मजरूआ और आदिवासी जमीन का गलत तरीके से बिक्री कर दी गयी है. जांच में कई प्लाट की अवैध जमाबंदी की बात सामने आई है. कुछ मामलों में प्राथमिकी भी दर्ज कर ली गयी है. दस्तावेजों की फॉरेंसिक जांच भी हो रही है.

अन्य खबरें