राचीः रातू मुठभेड़ में PLFI उग्रवादी लोहरा घायल, सबजोनल कमांडर फरार

Sumit Rajak, Last updated: Sun, 21st Nov 2021, 2:40 PM IST
  • रातू थाना के मखमंद्रो बाजार के पास शनिवार को PLFI उग्रवादियों और पुलिस के बीच मुठभेड़ हुई. PLFI का कुख्यात उग्रवादी छोटू लोहरा पुलिस की गोली से घायल हो गया. मुठभेड़ में शामिल PLFI का सब जोनल कमांडर कृष्णा यादव उर्फ सुल्तान फरार हो गया. उग्रवादी छोटू और सब जोनल कमांडर सुल्तान का काफी करीबी है.पुलिस ने आशंका जताया कि उग्रवादी कोई बड़ी घटना को अंजाम देने के लिए रातू में जुटे थे.
फाइल फोटो

रांची. रातू थाना के मखमंद्रो बाजार के पास  शनिवार को पीएलएफआई उग्रवादियों और पुलिस के बीच मुठभेड़ हुई. पीएलएफआई का कुख्यात उग्रवादी छोटू लोहरा पुलिस की गोली से घायल हो गया. गोली उसके शरीर को छूकर निकली थी. पुलिस ने  घायल उग्रवादी को गिरफ्तार कर लिया. उसे रिम्स के कैदी वार्ड में भर्ती कराया गया है. मुठभेड़ में शामिल PLFI का सब जोनल कमांडर कृष्णा यादव उर्फ सुल्तान फरार हो गया. उग्रवादी छोटू, PLFI का सब जोनल कमांडर कृष्णा यादव का काफी करीबी है. रांची और लातेहार पुलिस उग्रवादी छोटू से पूछताछ करने की तैयारी में जुटे है. छोटू के पकड़ने के बाद से पुलिस ने रांची के आसपास के इलाकों में छापेमारी शुरू कर दी है. पुलिस ने आशंका जताया कि उग्रवादी कोई बड़ी घटना को अंजाम देने के लिए रातू में जुटे थे. स्थानीय लोगों ने बताया की मुठभेड़  के दौरान एक ही गोली चलने की आवाज आई थी.

लातेहार पुलिस को सूचना मिली कि PLFI का सब जोनल कमांडर कृष्णा यादव उर्फ सुल्तान अपने एक साथी के साथ लोहरदगा से रांची जा रहा है. लातेहार SP अंजनी अंजन को गुप्त सूचना के आधार पर छापेमारी के लिए एक टीम का गठन करके लातेहार से दोनों उग्रवादियों को पकड़ने के लिए निकली. इस दौरान लातेहार पुलिस को यह जानकारी मिली कि दोनों उग्रवादी के साथ कुछ और भी उग्रवादी रातू इलाके में हैं. रांची पुलिस से संपर्क किया और रांची पुलिस भी अलर्ट हो गई. शनिवार को रातू के मखमंद्रो बाजार के पास सुल्तान अपने कुछ साथी के साथ होटल में साढ़े ग्यारह बजे चाय पीने के लिए रुका. मौके पर पुलिस की टीम भी वहां पहुंची. उग्रवादियों  पुलिस को देखते ही भागने लगे. पुलिस ने पीछा करने लगे तो दोनों उग्रवादियों ने हथियार निकाल लिया. पुलिस की तरफ से फायरिंग की गई, जिसमें एक उग्रवादी को गोली लगने से वह मौक पर ही गिर पड़ा. सुल्तान भागने में कामयाब हो गया. घायल छोटू लोहरा सुल्तान का काफी करीब बताया जा रहा है .

बंदरों और लंगूरों की फूड हैबिट में हुआ बदलाव, लगी चटपटा चिप्स खाने की आदत

सूचना के अनुसार सुल्तान हाजत से भागने  के बाद संगठन में लगातार सक्रिय है. कुछ ही दिनों में उसने छोटू लोहरा के साथ मिलकर आगजनी की. साथ ही दो वारदातों को भी अंजाम दिया है. रांची पुलिस के साथ लातेहार पुलिस छापेमारी कर रही है. रांची पुलिस को सूचना  मिलते ही PLFI उग्रवादियों को पकड़ने के लिए घेराबंदी कर ली गई थी. प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार भागने के क्रम में दोनों उग्रवादी हथियार लहराते हुए राहगीरों को धमकी देते हुये दोनों उग्रवादी दौड़ते हुए खेत की भागे. साथ में पीछे से लातेहार और रांची पुलिस भी दौड़ी. पुलिस ने दोनों को सरेंडर करने के लिए आवाज लगायी. जबकी दोनों खेत में भागते रहे. इसी क्रम में पुलिस ने फायरिंग कर दी. उग्रवादी छोटू लोहरा को गोली लगी. घायल होने के बाद भी छोटू भागते रहा. करीब एक किलोमीटर दूर भागने के बाद मांडर स्थित मालटोटी गांव के पास पहले से मौजूद पुलिसकर्मियों ने उसे दबोच लिया. वहीं, सुल्तान दूसरा रास्ता पकड़कर भाग निकला.

अन्य खबरें