सुप्रीम कोर्ट के रिटायर चीफ जस्टिस एम वाई इकबाल का निधन, कोरोना से थे संक्रमित

Smart News Team, Last updated: Fri, 7th May 2021, 8:09 AM IST
भारत के पूर्व जज एम.वाई. इकबाल का कोरोना संक्रमण की वजह से दिल्ली के मेदांता अस्पताल में गुरुवार को निधन हो गया. एमवाई बर मद्रास हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस और दिसंबर 2012 में सुप्रीम कोर्ट ऑफ इंडिया के न्यायाधीश थे. एम वाई इकबाल साल 2016 में रिटायर हुए थे. 
सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश रिटायर एमवाई इकबाल का निधन. (फाइल फोटो)

रांची : सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज जस्टिस एम. आई. इकबाल का गुरुवार को निधन हो गया. जस्टिस एम. वाई. इकबाल हाल में ही कोरोना वायरस से संक्रमित हुए थे. उनका इलाज दिल्ली के मेदांता अस्पताल में चल रहा था. गुरुवार सुबह को उनकी तबियत बिगड़ने के कारण उनको वेंटिलेटर पर रखा गया था. जहां उनका निधन हो गया. जस्टिस एम. वाई. इकबाल झारखंड हाई कोर्ट और मद्रास हाई कोर्ट के जज का भी कार्यभार संभाला था. एम. वाई. इकबाल साल 2016 में सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस पद से रिटायर हुए थे.

 एम. वाई. इकबाल का जन्म 13 फरवरी 1951 को एक मध्यम वर्गीय परिवार में हुआ था. उन्होंने अपनी शुरुआती शिक्षा रांची जिला स्कूल से 1971 में पूरा किया. उसके बाद बीएससी में स्नातक रांची यूनिवर्सिटी से पूरा किया. एम. वाई. इकबाल ने छोटानागपुर लॉ कॉलेज से वकालत की पढ़ाई किया. और वहां वह गोल्ड मेडलिस्ट रहे. जो उन दिनों दुर्लभ घटना थी. 1975 से सिविल कोर्ट ने प्रैक्टिस शुरू किया. और जल्दी अपने प्रतिभा और स्किल पर अपनी अलग पहचान बनाया.

रांची में 10 दिनों के अंदर ऑक्सीजन बेड का काम पूरा नहीं होने पर होगी कार्रवाई-HC

एम. वाई. इकबाल को 9 मई 1996 को पटना हाई कोर्ट का स्थाई जज बना दिया गया. उसके बाद 14 नवंबर 2000 को झारखंड हाई कोर्ट का जज घोषित किया गया. एम. वाई. इकबाल 11 जून 2010 से 21 दिसंबर 2012 तक मद्रास उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश थे. उच्च न्यायालय में न्यायाधीश के रूप में 16 साल तक काम करने के बाद उनको 24 दिसंबर 2012 को भारत के सर्वोच्च न्यायालय का न्यायाधीश बनाया गया.

झारखंड में पहले जैसी पाबंदियों के साथ 13 मई तक बढ़ा मिनी लॉकडाउन, जानें डिटेल्स

सफर के दौरान बच्चे को उल्टी होने पर रोकी कार, मासूम पर बंदरों ने किया हमला

रांची: सूद की रकम का किया तकादा तो युवक की गोली मारकर कर दी हत्या

अन्य खबरें