40 माह बाद जेल से बाहर निकलेंगे लालू प्रसाद यादव, इन शर्तों पर झारखंड हाईकोर्ट ने दी जमानत

Smart News Team, Last updated: Sat, 17th Apr 2021, 3:10 PM IST
  • चारा घोटाले के आरोप में रांची जेल में बंद लालू प्रसाद यादव को झारखंड हाईकोर्ट ने जमानत दे दी है. करीब 40 महीने के बाद लालू यादव जेल से बाहर आ सकेंगे. जमानत के लिए लालू यादव ने कुछ शर्तें भी रखी है. लालू कोर्ट के बिना बताए विदेश नहीं जा सकेंगे. 
लालू यादव को झारखंड हाईकोर्ट से मिली जमानत.

रांची: चारा घोटाले के मामले में पिछले 40 महीने से जेल में बंद आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव को झारखंड हाईकोर्ट ने बड़ी राहत दी है. कोर्ट ने एक लाख रुपये के मुचलके पर लालू यादव को जमानत दी है. लालू यादव की जमानत सूचना के बाद आरजेडी में खुशी का माहौल है. इस जमानत के लिए हाईकोर्ट ने कुछ शर्तें भी रखी है. जिसमें लालू यादव को कोर्ट में अपना पासपोर्ट जमा करना होगा. इसके अलावा अदालत को बिना बताए वह विदेश नहीं जा सकेंगे. साथ ही वह अपना मोबाइल नंबर और पता नहीं बदल पाएंगे.

5 मामलों में से 4 मामलों में पहले ही मिल चुकी है जमानत

बता दे कि लालू प्रसाद के खिलाफ झारखंड में पांच मामले चल रहे थे. चार मामलों में पहले ही उन्हें जमानत मिल गयी है. पांचवा मामला डोरंडा कोषागार से अवैध निकासी से संबंधित है. सीबीआई कोर्ट में इस मामले की सुनवाई अभी चल रही है. जस्टिस अपरेश कुमार सिंह की अदालत ने लालू प्रसाद को एक लाख के निजी मुचलके, दस लाख जुर्माना जमा करने का निर्देश दिया है. लालू यादव के अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने बताया लालू प्रसाद ने अपने स्वास्थ्य और दुमका कोषागार केस में मिली आधी सजा काट लेने के आधार पर जमानत मांगी थी.

नीतीश सरकार का ऐलान- दूसरे राज्य से लौटे प्रवासी मजदूरों को राज्य में मिलेगा रोजगार

सीबीआई ने किया जमानत का विरोध

अदालत में सीबीआई ने लालू प्रसाद को जमानत का विरोध किया गया. सीबीआई का कहना था कि दुमका कोषागार में लालू प्रसाद को सीबीआई कोर्ट ने आईपीसी में सात और पीसी एक्ट के तहत सात साल की सजा सुनायी है. सीबीआई कोर्ट ने दोनों सजा अलग-अलग चलाने का आदेश दिया है. ऐसे में उन्हें कुल 14 साल की सजा मिली है. सात साल जेल में बिताने के बाद ही उनकी आधी सजा होगी. वही कपिल सिब्बल ने सीबीआई की दलील का विरोध किया. उन्होंने अदालत को बताया कि इस मामले में कई और अन्य आरोपियों को सात साल की सजा मान कर ही जमानत दी है.

25 अप्रैल तक बंद रहेगा बिहार विधानसभा सचिवालय, 20 लोग कोरोना संक्रमित

विपक्ष ने नीतीश सरकार को घेरा, CM बोले-17 अप्रैल को हाई लेवल मीटिंग के बाद फैसला

अन्य खबरें