वैज्ञानिक छात्रा ने बनाया बैक रिव्यू चश्मा, पेटेंट कराने को किया आवेदन

Smart News Team, Last updated: 07/12/2020 06:25 PM IST
  • कहते हैं कि आँखें दिलों का हाल जान जाती है नजर. नजर कमजोर हो तो हम चश्मे का इस्तेमाल करते हैं. चश्मा आम आदमी के रोजमर्रा जीवन का अत्यंत उपयोगी वस्तु है. क्या कभी आपने ऐसा सुना है कि आंखों के सामने लगाया जाने वाला चश्मा आपको आपके पीछे का नजारा भी दिखाएगा.
छात्रा दिवंगत दिगंतिका ने आईडिया को किया साकार , बनाया बैक व्यू चश्मा

रांची. जी हां, अब तक उपयोग में लाए जाने वाले सामान्य चश्मों से यह संभव नहीं था किंतु विज्ञान की एक छात्रा दिवंगत दिगंतिका ने सामने के साथ ही पीछे का दृश्य दिखाई देने वाला चश्मे का आविष्कार किया है. दिगंतिका ने अपने इस आविष्कार को पेटेंट के लिए कार्रवाई कर दी है.

मूल रूप से पश्चिम बंगाल के वर्धमान जिले की रहने वाली छात्रा दिगंतिका 12वीं कक्षा के विज्ञान की छात्रा है. एक बार सुंदरवन घूमने को गई दिगंतिका में वहां मौजूद लोगों से सुना कि यहां बाग का खतरा है और अक्सर भाग पीछे से इंसान पर हमला करते हैं. लोगों की यही बात दिगंतिका के दिलो-दिमाग में चुप कर रह गई दिगंतिका ने इस समस्या के उपाय के लिए मन में ठान ली. विचार आया कि क्यों ना ऐसा चश्मा तैयार किया जाए जिसमें सामने के साथ ही पीछे का भी दृश्य दिखाई दे.

झारखंड सरकार ने धान खरीद पर लगाई रोक, BJP ने CM हेमंत सोरेन का पुतला फूंका

वर्धमान नामक स्थित वीएम इंस्टिट्यूट यूनिट दो की छात्रा दिगंतिका ने अपने इस विचार को इनोवेटिव आइडिया के तहत तैयार करने का सोचा. दिगंतिका ने सामान्य चश्मे के दोनों रेंज के अगल-बगल कमानी से संबंध करते हुए तो अतिरिक्त लेंस लगाएं जैसे कि वाहनों में पीछे के दृश्य देखने के लिए साइड शीशा लगे होते हैं. इस चश्मे में दिगंत गाने उत्तल दर्पण का प्रयोग किया. इसकी उभरी हुई सताए परावर्तक तल का काम करती है. जिसकी अंदरूनी सतह पर पोलिस चढ़ी होती है. परावर्तक तल पर पीछे के दृश्य नजर आ जाते हैं. क्लिप के माध्यम से संबंध अतिरिक्त लेंसों को किसी भी सामान चश्मे से अटैच किया जा सकता है.

दिगंतिका बताती है कि सामान्य तौर पर चश्मे से 124 डिग्री केक और तक ही देखा जा सकता है किंतु हमने जो चश्मा तैयार किया है वह आगे और पीछे दोनों ओर से 124 डिग्री तक देखा जा सकेगा. दिगंतिका ने बताया कि ऐसा चश्मा तैयार करने के लिए केवल 100 की लागत आई है. इस चश्मे को पेटेंट कराएंगे.

अन्य खबरें