झारखंड कर्मचारियों को नहीं मिल रहा था पीएफ, भविष्य निधि संगठन ने 36 निकायों को भेजी नोटिस

Smart News Team, Last updated: Thu, 11th Feb 2021, 8:50 AM IST
  • झारखंड के सरकारी कर्मचारियों को पीएफ नहीं मिलने पर कर्मचारी भविष्य निधि आयुक्तालय ने राज्य के 36 दफ्फ्तरो को नोटिस भेजी है. जिसमे कहा गया है कि जांच में दोषी पाए गए दफ्फतरों के खतों में लेन देन बंद कर दिया जाएगा साथ ही कार्रवाही भी कि जाएगी.
झारखंड कर्मचारियों को नहीं मिल रहा था पीएफ, भविष्य निधि संगठन ने 36 निकायों को भेजी नोटिस

रांची. झारखंड सरकार में काम करने वाले सरकारी कर्मचारियों का पीएफ नहीं कटने पर सभी निकायों को नोर्तिच जारी जारी किया गया है. इस नोटिस को कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ने जारी किया है. इस संगठन ने झारखंड के 36 संसथानो को नोटिश जारी कर पीएफ कानून के उल्लंघन करने का जवाब मांगा है. वहीं साथ में सेंट्रल एनालिसिस एंड इंटेलीजेंस विंग से भविष्य निधि आयुक्तालय ने जारी सभी सरकारी दफ्तरों के दस्तावेज की जांच करने की अनुमंती मांगी है. 

झारखंड सरकार के विभिन्न विभागों में काम करने वालों का भविष्य निधि खता खोला गया है. जिसमे हर महीने उन कर्चारियों के मासिक वेतन से कुछ राशि कट कर जमा होती है, लेकिन वह न तो कर्मचारियों के वेतन से राशि कट रही थी न भविष्य निधि में कोई राशि जमा हो रही थी. जिसे देखते हुए ही  भविष्य निधि आयुक्तालय ने राज्य के 36 विभागों को नोटिस जारी किया है. वहीं आपको बता दे कि यदि किसी सरकारी विभाग में 20 कर्मचारी काम कर रहे है तो वहां के कर्मचारियों का भविष्य निधि खता खोलना अनिवार्य है.

JAC बोर्ड परीक्षा: कोरोना के मद्देनजर 1100 परीक्षा केंद्र बढ़ेंगे,तैयारियां शुरू

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन द्वारा जारी सरकारी विभागों को जारी नोटिस में कहा गया है कि यदि सरकारी विभाग इस दिशा में पहल नहीं करते है तो उनके दस्तावजों कि जांच करके उनपर कानूनी कार्रवाई की जाएगी. इतना ही नहीं इस जांच के तहत दोषी पाए जाने पर उन विभागों के खतों में लें दें भी रोक दिया दिया जाएगा. जिन दफ्तरों को नोटिस जारी की गई है उनमे करीब दो से ढाई लाख कर्मचारी प्रभावित हो रहे है.

महिला विकास मंच ने की झारखंड सरकार से पुरुष आयोग बनाने की मांग

अन्य खबरें