पुलिस के डर से पीएलएफआई के दो उग्रवादियों ने कोर्ट में सरेंडर किया

Smart News Team, Last updated: Fri, 5th Feb 2021, 4:46 PM IST
  • दोनों उग्रवादियों के कोर्ट में सरेंडर करने के बाद पुलिस ने दोनों उग्रवादियों को रिमांड पर लेकर पूछताछ करने की योजना बनायी है. बता दें कि दो दिन पहले पुलिस अधीक्षक एचपी जनार्दनन व एसडीपीओ दीपक कुमार उग्रवादियों के घर पहुंचकर उन लोगों के माता पिता को समझाया था.
पुलिस के डर से पीएलएफआई के दो उग्रवादियों ने कोर्ट में सरेंडर किया (प्रतीकात्मक तस्वीर)

रांची : पीएलएफआई के दो नक्‍सलियों ने खुद ही सरेंडर कर दिया. पुलिस प्रशासन द्वारा आये दिन किए जाने वाले कार्रवाई से पूरे इलाके में डर का माहौल बन गया है. उग्रवादियों ने स्‍वयं यह बातें स्‍वीकार की. जिन दो उग्रवादियों ने सरेंडर किया है उनमें कामडारा प्रखंड के सरिता जोन के एरिया कमांडर संजय सुरीन और पीएलएफआई दस्ता सदस्य मंगरा टोपनो शामिल हैं. इन दोनों पर हत्या, आर्म्स एक्ट, 17 सीएलए एक्ट एवं लेवी मांगने का आरोप है.

 गुमला के बसिया, कामडारा व खूंटी जिला के थानों में प्राथमिकी दर्ज है. दोनों नक्सलियों द्वारा सरेंडर करने के बाद न्यायिक हिरासत में लेते हुए जेल भेज दिया गया. कोर्ट में सरेंडर करने के बाद पुलिस दोनों उग्रवादियों को रिमांड पर लेकर पूछताछ करने की योजना बनायी है. यहां बता दें कि दो दिन पहले पुलिस अधीक्षक एचपी जनार्दनन व एसडीपीओ दीपक कुमार उग्रवादियों के घर पहुंचकर उन लोगों के माता पिता को समझाया था.

लालू यादव की मेडिकल रिपोर्ट पेश नहीं करने से रिम्स पर भड़का झारखंड हाई कोर्ट

परिवार के लोगों ने सही दिशा से भटके अपने बेटों को सरेंडर कराने की अपील की. पुलिस अधिकारियों की इस पहल का असर दिखा. सरिता बड़काटोली गांव निवासी पीएलएफआई का एरिया कमांडर संजय सुरीन ने न्यायालय में सरेंडर किया. संजय के खिलाफ हत्या, आर्म्स एक्ट व 17-सीएलए एक्ट के तहत केस दर्ज है. वहीं कामडारा प्रखंड के केनालोया गांव निवासी मंगरा टोपनो ने भी सरेंडर कर दिया है. मंगरा पर आर्म्स एक्ट व 17-सीएलए एक्ट के तहत कामडारा थाने में प्राथमिकी दर्ज है. एरिया कमांडर संजय सुरीन कामडारा थाना क्षेत्र के सरिता, बड़काटोली व आसपास के गांवों में 10 वर्षो से सक्रिय है.

 

अन्य खबरें