सावधानी! पटाखों से शरीर जलने पर लगातार 20 मिनट तक पानी से धोएं

Sumit Rajak, Last updated: Mon, 1st Nov 2021, 7:56 AM IST
  • दिवाली के दिन जमकर पटाखे जलाने के क्रम में लोग हाथ या शरीर के किसी हिस्से को जला बैठते हैं. पटाखों के जलने पर टूथपेस्ट, बर्फ, आलू, हनी के प्रयोग से बचें. शरीर के हिस्से में जलने पर बर्फ और ठंडा पानी का प्रयोग नहीं करें. जलने पर रनिंग टैप वाटर का ही इस्तेमाल कर धोएं.
प्रतीकात्मक फोटो

रांची. दिवाली के दिन जमकर आतिशबाजी होती है. कई बार पटाखे जलाने के क्रम में लोग हाथ या शरीर के किसी हिस्से को जला बैठते हैं. इसे लेकर रिम्स के विशेषज्ञ चिकित्सक डॉ मृत्युंजय सरावगी ने बताया कि शरीर के हिस्से में जलने पर बर्फ और ठंडे पानी का प्रयोग नहीं करें. जलने पर रनिंग टैब वाटर का ही इस्तेमाल कर धोएं. देवकमल अस्पताल के डॉ अनंत सिन्हा ने बताया कि अगर बारूद या केमिकल से भी जल गए हो तो सिर्फ पानी से ही 20 मिनट तक धोते रहें ताकी बारूद के पार्टिकल्स निकल जाएं. डॉ मृत्युंजय सारावागी ने बताया कि किसी भी हाल में टूथपेस्ट, आलू पीसकर नहीं लगाएं, ऐसे में मरीजों में इंफेक्शन का खतरा तो रहता ही है, इसके अलावा अस्पताल पहुंचने पर उसे छुड़वाना मुश्किल हो जाता है. उन्होंने बताया कि अधिक जलन होने पर जलन कम करने के लिए नारियल में कपूर मिलाकर लगाएं. इसके अलावा कुछ नहीं करें.

देवकमल अस्पताल के डॉ अनंत सिन्हा ने बताया कि दीपावाली के दिन अमूमन 70 से 80 मामले अस्पताल पहुंचते है.उन्होने कहा कि इसमें 90 फीसदी मरीज अस्पताल के ओपीडी से ही लौटकर चले जाते है. दस फीसदी मामले वैसे होते हैं, इससे सतर्कता बरतने की जरुरत है.

Diwali 2021: झारखंड में पटाखे बेचने और फोड़ने पर बैन, पालन न करने पर होगी कार्रवाई

उन्होंंने बताया कि जलने के मामले में करीब 20 मिनट या जलन कम होने पर लगातर नॉर्मल पानी से जले  हुए  स्थान को धोते रहें. इसके अलावा कोई और प्रयोग नहीं करें. उन्होंने साथ ही कहा कि टूथपेस्ट, हनी, आलू, सहित किसी भी चीज का प्रयोग नहीं करना चाहिए, सीधा अस्पताल आना ही बेहतर होता  है.

 

अन्य खबरें