सनातन धर्म में 16 दिसंबर से चार माह के लिए बंद हो जाएगी शादियों की शहनाई

Smart News Team, Last updated: 14/12/2020 11:44 AM IST
  • 16 दिसंबर दिन बुधवार से सनातन धर्म में चार माह के लिए विवाह बंद हो जाएंगे. 15 दिसंबर को गोधूलि लग्न के बाद 22 अप्रेल तक विवाह का कोई शुभ मुहुर्त नहीं है.
शादिया 16 दिसंबर से चार माह के लिए बंद ( सांकेतिंक तस्वीर )

रांची:  25 नवंबर से शुरु हुई शादी विवाह की रस्में 16 दिसंबर से बंद हो जाएगी. शुक्र के अस्त हो जाने के कारण  बुधवार से विवाह का मुहुर्त नहीं है. इसके बाद नए साल में 22 अप्रैल से फिर से विवाह के शुभ मुहुर्त आरंभ हो होंगे. सनातन समाज में विवाह लग्न का शुभ मुहुर्त 15 दिसंबर के बाद बिल्कुल नहीं है. 17 दिसंबर से खरमास आरंभ हो रहे है जिसके कारण विशेष धार्मिक अनुष्ठान और संस्कार भी एक माह के लिए बंद हो जाएंगे.

सनातन धर्म के विशेज्ञय ज्योतिषाचार्य पंडित रामदेव पांडेय ने बताया कि 15 दिसंबर को गोधूलि लग्न के बाद विवाह मुहूर्त चार माह तक विवाह का मुहुर्त नहीं है. नए साल में 22 अप्रैल के बाद फिर से शुभ मुहुर्त आरंभ होंगे. उन्होंने कहा कि कोरोना काल में भगवान श्री विष्णु के योग निंद्रा में चले जाने के बाद एक जुलाई से विवाह मुहूर्त बंद हो गए थे. 148 दिन के बाद 25 नवंबर को श्री हरि प्रबोधिनी एकादशी पर तुलसी विवाह से फिर से शादी के शुभ मुहुर्त आरंभ हुए थे.

Indian Army JOBS: भारतीय सेना में नौकरी, रांची में 21 दिसंबर से आर्मी भर्ती रैली

नवंबर और दिसंबर में कुल 12 लग्न में श्रेष्ठ मुहूर्त पर कई जोड़े परिणय बंधन में बंधे है. अब नए साल में ही 22 अप्रैल से विवाह के मुहूर्त फिर से शुरू होंगे. वर्ष 2021 में मकर संक्रांति के बाद इस बार विवाह लग्न नहीं हैं. ज्योतिषाचार्य आचार्य श्रीकृष्ण ने बताया कि अप्रैल में विवाह मुहूर्त 22, 23, 24, 25, 26, 27, 28 और 30 तारीख को है। मई में 18, जून में 13, जुलाई माह में नौ लग्न हैं. इसके बाद चातुर्मास आरंभ हो जाएगा.

BIT मेसरा के 30वें दीक्षांत समारोह में 17 में से 11 गोल्ड मेडल लड़कियों को

डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी विश्वविद्यालय में छात्रों ने आजसू के साथ किया प्रोटेस्ट

अन्य खबरें