उत्तराखंड हादसे में फंसे झारखंड के 13 श्रमिक, सरकार ने मदद के लिए उठाया ये कदम

Smart News Team, Last updated: Tue, 9th Feb 2021, 4:20 PM IST
  • चमोली में हुए इस हादसे में झारखंड के भी 13 श्रमिक फंसे हैं. बताया जा रहा है कि हादसे में लोहरदगा के आठ और रामगढ़ के पांच लोग प्राकृतिक आपदा से लापता हैं. ऐसे में लोगों की मदद के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किया है.
उत्तराखंड हादसा (फाइल तस्वीर)

उत्तराखंड में ग्लेशियर टूटने के कारण वहां हादसा हो गया, जिसमें 150 लोगों के गुम होने व कई लोगों के मरने की भी खबर आई है. वहीं, हाल ही में सामने आया है कि चमोली में हुए इस हादसे में झारखंड के भी 13 श्रमिक फंसे हैं. बताया जा रहा है कि हादसे में लोहरदगा के आठ और रामगढ़ के पांच लोग प्राकृतिक आपदा से लापता हैं. ऐसे में लोगों की मदद के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किया है, जिससे चमोली में फंसे झारखंड के लोगों की जानकारी दी जा सके.

हेमंत सरकार ने चमोली में हुए हादसे के दौरान फंसे झारखंड के लोगों के लिए और उनके परिजनों की मदद के लिए कंट्रोल रूम के नंबर और वाट्सएप नंबर जारी किये हैं. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा है कि चमोली आपदा में फंसे राज्यवासी घबराएं नहीं. अगर किसी के परिजन प्रभावित क्षेत्र में फंसे हैं और उन्हें किसी तरह की मदद की जरूरत है तो श्रम विभाग के स्टेट कंट्रोल रूम के हेल्पलाइन नंबरों पर संपर्क करें. राज्य सरकार उनकी हर संभव सहायता करेगी.

ग्रामीण क्षेत्र के थानों में लावारिस वाहनों की होगी नीलामी

चमोली हादसे में फंसे झारखंड के लोगों के लिए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने राज्य के पदाधिकारियों को हर प्रकार की सहायता उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं. मुख्यमंत्री ने चमोली आपदा में फंसे राज्य के लोगों तथा उनके परिवारों से न घबराने की अपील की. बताया जा रहा है कि उत्तराखंड के चमोली जिले में प्राकृतिक आपदा के बाद बाढ़ जैसे हालात हैं. इसमें झारखंड के श्रमिकों के फंसे होने या लापता होने की संभावना के कारण 11 हेल्पलाइन नंबर और वाट्सएप नंबर जारी किए गए हैं.

 

अन्य खबरें