युवा संसद में अपनी वाक कला दिखाएंगे प्रतिभागी, 5 और 6 जनवरी को हो रहा आयोजन

Smart News Team, Last updated: Mon, 4th Jan 2021, 5:04 PM IST
  • प्रत्येक वर्ष होने वाले युवा संसद महोत्सव का योजन 5 और 6 जनवरी को होने जा रहा है. इसका आयोजन हर साल नेहरू युवा केंद्र संगठन की तरफ से किया जाता है. इसके बारे में जानकारी केंद्र की राज्य निदेशक रीता भगत और राज्य संयोजक उपनिदेशक हनी सिन्हा ने दिया.
मोरहाबादी स्थित नेहरू युवा केंद्र कार्यालय में प्रेस वार्ता में जानकारी देती रीता भगत और हनी सिन्हा

रांची. नेहरू युवा केंद्र संगठन की तरफ से प्रत्येक वर्ष राष्ट्रिय स्तर युवा संसद महोत्सव का आयोजन किया जाता है. वही इस कार्यक्रम के जरिए युवाओं के वाक कला यानि बोलने की कला को परखा जाता है. जिसका आयोजन 5 और 6 जनवरी को किया जा रहा है. जिसमे पुरे राज्य से चुने हुए 48 प्रतिभागी विभिन्न विषयों पर अपने बोलने की कला का प्रदर्शन करेंगे. इस कार्यक्रम की जानकारी सोमवार को केंद्र की राज्य निदेशक रीता भगत और राज्य संयोजक उपनिदेशक हनी सिन्हा ने दिया.

उन्होंने रांची के मोराबादी स्थित नेहरू केंद्र के कार्यलय में प्रेस वार्ता के दौरान बताया कि सभी युवाओं को बोलने के लिए पांच विधाय निर्धारित किया गया है. भारतीय अर्थव्यवस्था का सुदृढ़ीकरण, एक नए भारत के लिए युवाओं में ऊर्जा का संचार, जलवायु परिवर्तन कोविड-19 से भी बड़ा है, नारी शक्ति का इष्टतम उपयोग और भारत के अभिनव स्टार्टअप के लिए इको सिस्टम का विकास ये पांच विषय शामिल किए गए है. वहीं उन्होंने पत्रकारों से बात करते हुए बताया कि सभी पांच विषयों पर प्रतिभागी को चार-चार मिनट बोलने का मौका दिया जाएगा.

1.60 लाख शिक्षित युवाओं को सरकारी नौकरी देने की कवायद शुरू

उन्होंने ने इस प्रेस वार्ता में बताया कि यह पूरा कार्यक्रम ऑनलाइन संचालित किया जाएगा. वहीं रांची के विधयक सीपी सिंह इस कार्यक्रम का वर्चुवल तरीके से उद्घाटन करेंगे. इसके साथ ही उन्होंने बताया कि सभी प्रतिभागियों को जज करने के लिए निर्मला कॉलेज की प्रोफेसर डॉ रेनू सिन्हा, संजय गाँधी मेमोरियल कॉलेज की डॉ पंपा सेना विश्वास, आरटीसी कॉलेज के प्रोफेसर शैलेन्द्र सिन्हा और बीआईटी मेसरा की मृणाल पाठक मौजूद रहूंगी. वहीं उन्होंने बताया कि शुरू के तीन स्थान पाने वाले प्रतिभागियों को 11 एवं 12 जनवरी को संसद भवन दिल्ली में आयोजित होने वाले कार्यक्रम में भाग लेने का मौका मिलेगा.

कोल्ड चैन बनाए रखने को स्वास्थ्य केंद्रों में निरंतर विद्युत आपूर्ति कवायद शुरू

अन्य खबरें