बड़े अस्पतालों के साथ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर आयुष्मान योजना की सुविधा

Smart News Team, Last updated: 09/12/2020 01:26 PM IST
  • प्रधानमंत्री आयुष्मान योजना गरीबों के लिए वरदान साबित हो रही है. राजधानी रांची में सदर अस्पताल व रिम्स के अलावा टाउन एरिया में संचालित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर पहुंचने वाले पात्र मरीजों को भी इस योजना का लाभ मिलने लगा है. 
रांची में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर भी आयुष्मान योजना की सुविधा

रांची . बता दें कि साल 2018 के सितंबर माह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना आयुष्मान भारत की शुरुआत की थी. योजना के तहत राज्य के सभी बीपीएल परिवारों को योजना का लाभ दिए जाना तय किया गया था. समय गुजरा तो देखते ही देखते राजधानी के तकरीबन 55000 परिवार इस योजना से लाभान्वित भी हो गए.

अकेले सदर अस्पताल में ही बीते 3 सालों में आयुष्मान योजना के तहत 19240 मरीजों का इलाज किया गया इनके इलाज के लिए लगभग 6 करोड़ 40 लाख रुपए केंद्र सरकार की ओर से संबंधित अस्पतालों के खाते में जारी किए गए. समय गुजरने के साथ ही राजधानी रांची सहित राज्य के कस्बा एवं ग्रामीण क्षेत्रों में संचालित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों की दहलीज पर भी आयुष्मान योजना पहुंच गई. जिसके परिणाम स्वरूप सीएचसी ओरमांझी केंद्र पर 1090, सीएचसी रातू केंद्र पर 807, सीएचसी बेडो केंद्र पर 155, सीएचसी बुंडू केंद्र पर 180, सीएचसी बुढ़मू केंद्र पर 333, सीएचसी चान्हों केंद्र पर 389, सीएचसी मांडर केंद्र पर 341, सीएचसी नामकुम केंद्र पर 397, सीएचसी सोनाहातू केंद्र पर 396, सीएचसी अनगड़ केंद्र पर 698, सीएचसी का के केंद्र पर 786, 80 तमाड़ केंद्र पर 416 एवं सीएचसी सिल्ली केंद्र पर 782 के अलावा रिम्स अस्पताल में 3771, समुदायक हेल्थ सेंटर लापुंग मैं 390, सीआईपी अस्पताल में 16 मरीजों का अब तक आयुष्मान योजना के तहत इलाज किया जा चुका है.

जश्न के साथ इम्यूनिटी बढ़ाएगी मडुआ, लेट्स सेलिब्रेट

इस संबंध में आयुष्मान भारत योजना के जिला प्रोग्राम कोआर्डिनेटर आशीष कुमार बताते हैं कि योजना के तहत मरीजों को सारी दवाई निशुल्क दी जाती हैं. उन्होंने बताया कि योजना के द्वारा जो भी फंड इन केंद्रों और अस्पतालों में केंद्र सरकार की ओर से आ रहा है इससे वहां की सुविधाएं विकसित की जा रही है ताकि मरीजों को समुचित इलाज मिल सके.

अन्य खबरें