देश के सातवें पायदान पर रखा गया बिरसा का कृषि विश्वविद्यालय

Smart News Team, Last updated: 07/12/2020 10:23 PM IST
  • कृषि विश्वविद्यालयों की हाल ही में जारी की गई रैंकिंग में रांची के बिरसा कृषि विश्वविद्यालय को सातवें पायदान पर स्थान मिला है. इस उपलब्धि पर विश्वविद्यालय के कुलपति ने विश्वविद्यालय प्रशासन को बधाई दी है.
रांची के बिरसा कृषि विश्वविद्यालय को सातवें पायदान पर स्थान मिला है

रांची . बताते चलें कि भूलवश कहे या अज्ञानतावश पिछले साल 2019-20 के शैक्षणिक सत्र में बिरसा कृषि विश्वविद्यालय की ओर से स्पर्धा में भागीदारी नहीं की जा सकी थी किंतु इस साल 2020-21 के शैक्षणिक सत्र में बिरसा कृषि विश्वविद्यालय ने ना केवल इस स्पर्धा में भागीदारी की बल्कि इस बार देश के विभिन्न कृषि विश्वविद्यालयों की सूची में सम्मानजनक स्थान भी प्राप्त किया. पिछले दिनों सूचीबद्ध किए गए कृषि विश्वविद्यालयों मैं शिक्षा अनुसंधान और विस्तार के मानकों के परीक्षण करने के बाद भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद आईसीएआर ने सूची जारी की. इस सूची में रैंकिंग के आधार पर बिरसा कृषि विश्वविद्यालय को 60वें पायदान पर स्थान दिया गया.

इस संबंध में बिरसा कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ ओमकार नाथ सिंह ने बताया कि भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद की ओर से पिछले 4 सालों से लगातार विश्वविद्यालयों की रैंकिंग सूची जारी की जा रही है. पिछले साल भूलवश हमारे विश्वविद्यालय ने इस स्पर्धा में सहभागिता नहीं निभाई थी किंतु हाल ही में जारी की गई सूची से वह संतुष्ट है. उन्होंने बताया कि आगे से भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद की ओर से आयोजित होने वाली इस स्पर्धा में हमारा विश्वविद्यालय हमेशा हिस्सा लेगा.

भारत माला प्रोजेक्ट के तहत झारखंड में बनेंगे दो नए एक्सप्रेस-वे

कुलपति डॉ ओंकार नाथ सिंह ने विश्वविद्यालय की इस उपलब्धि पर प्रसन्नता जाहिर करते हुए विश्वविद्यालय प्रशासन के साथ ही सहकर्मियों के सहयोग और छात्रों के अनुशासन को इस उपलब्धि के लिए जिम्मेदार ठहराया है. कहते हैं कि आगे से हमारा विश्वविद्यालय कृषि विश्वविद्यालयों की सूची में टॉप पर आने के लिए पुरजोर प्रयासरत रहेगा. इस कार्य के लिए कुलपति ने विद्यालय प्रशासन से सहयोग की अपेक्षा की है.

अन्य खबरें