राँची यूनिवर्सिटी ने किया टीचरों और कर्मचारियों का 2 साल सेवा विस्तार

Smart News Team, Last updated: 16/12/2020 12:05 AM IST
  • अब रांची विश्वविद्यालय को टीचरों और कर्मचारियों की कमी से फिलहाल जूझना नहीं पड़ेगा. सोमवार को विश्वविद्यालय प्रशासन के सिंडिकेट की हुई बैठक में टीचरों और कर्मचारियों के 2 साल के सेवा विस्तार के निर्णय को मंजूरी दे दी गई है. इसके अलावा सिंधी केट बैठक में 6 प्रस्तावों को भी मंजूरी दी गई है.
सिंडीकेट बैठक में रांची यूनिवर्सिटी ने किया टीचरों और कर्मचारियों 2 साल का सेवा विस्तार

रांची. बता दें कि रांची विश्वविद्यालय में पिछले कई सालों से रिटायरमेंट के सापेक्ष कोई भी नियुक्ति नहीं हुई है. जबकि विश्वविद्यालय में साल दर साल टीचर और कर्मचारी रिटायर होते चले जा रहे हैं. इससे विश्वविद्यालय का शिक्षण कार्य के साथ ही कार्यालय कार्य करने में कठिनाई होती रही है. इसी के मद्देनजर विश्वविद्यालय प्रशासन ने पिछले दिनों कर्मचारियों और टीचरों की सेवा काल को 2 साल और विस्तार करने का प्रस्ताव तैयार किया था. जिसे विश्वविद्यालय प्रशासन सिंडीकेट की सोमवार को हुई बैठक में मंजूरी दे दी गई है.

रांची विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ रमेश कुमार पांडे की अध्यक्षता में हुई सिंडीकेट बैठक में टीचरों और कर्मचारियों के सेवा विस्तार के अलावा डोरंडा कॉलेज कैंपस स्थित बैंक भवन को दोस्त करने के प्रस्ताव को भी स्वीकृत कर दिया गया है. यही नहीं बैठक में योगदा कॉलेज के चार प्रयोगशाला सहायकों को डेमोंस्ट्रेटर बनाया गया है. इसके साथ ही सिंडीकेट बैठक में संत जेवियर के 13 टीचरों को सीनियर लेक्चरर पद पर प्रमोशन देने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी गई है. 

राजधानी समेत राज्य भर के मौसम में बदलाव, हल्की-फुल्की बारिश से शुरू हुई सुबह

वही जेपीएससी की अनुशंसा के आलोक में महिला कॉलेज की डॉ मीना सहाय को प्रोफेसर पद पर प्रोन्नत किया गया है. बैठक में 3 टीचरों को 8 वर्षीय प्रोन्नति योजना के तहत सह प्राध्यापक के पद पर प्रोन्नत किया गया है. इसके साथ ही सिंधी केट की बैठक में आरएलएसवाई कॉलेज के टीचर डॉ शशि शेखर का अवकाश स्वीकृत कर दिया गया है.

इस संबंध में विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ रमेश कुमार पांडे ने बताया कि सिंडीकेट बैठक में लिए गए सारे प्रस्ताव स्वीकृत कर लिए गए हैं. जल्द ही इस को लेकर आगे की कार्रवाई अमल में लाई जाएगी.

अन्य खबरें