रांची जंक्शन पर आईओसी ने उपलब्ध करवाई एंबुलैंस, 24 घंटे रहेगी उपलब्ध

Smart News Team, Last updated: 06/12/2020 11:48 AM IST
  • रेलवे स्टेशन पर 24 घंटे एंबुलेंस रहने से मरीजों के लिए काफी सुविधाजनक रहेगा. आईओसी और जिला प्रशासन की ओर शहर में लोगों के हित में और भी कई प्रोजेक्टस पर काम किया जा रहा है.
रांची में वुडबॉल का  पांच दिवसीय प्रशिक्षण शिविर शुरू 

रांची. रांची रेलवे स्टेशन पर अब लोगों की सुविधा के लिए 24 घंटे एंबुलेंस की सेवा उपलब्ध रहेगी. इंडियन आयल कारपोरेशन के डीजीएम प्रमोद रंजन ने शनिवार को रेलवे को एंबुलेंस सौंपी.आईओसी की तरफ से सीएसआर फंड के तहत रेलवे स्टोशन को सहयोग के तहत एंबुलेंस उपलब्ध करवाई गई है. इस संबंधी इंडियन आयल और रांची जिला प्रशासन में एमओयू पहले ही साइन हो चुका है. 

प्रमोद रंजन ने जानाकारी देते हुए बताया कि रांची जिला प्रशासन के साथ सीएसआर के तहत और भी बहुत से प्रोजेक्ट पर काम हो रहा है. रांची के विकास के लिए आईओसी और जिला प्रशासन संयुक्त रूप से मिलकर काम कर रहे हैं. रांची जंक्शन पर एंबुलेंस पर सुविधा कराना कोरोना काल में काफी सुविधाजनक रहेगा. कोरोना काल में जरूरत को देखते हुए एंबुलेंस का 24 घंटे उपलब्ध करवाया गया है. सिविल सर्जन का भी इस बारे में कहना है कि एंबुलेंस सेवा उपलब्ध रहने से मरीजों को तुरंत डॉक्टरी सहायता मिल जाएगी. उन्होंने बताया कि इस एंबुलेंस को सिविल सर्जन कार्यालय से आपरेट किया जाएगा.

रांची के रणेन्द्र को 11 लाख रुपये का श्रीलाल शुक्ल इफको साहित्य सम्मान

मोमिन कांफ्रेंस के प्रतिनिधिमंडल ने मंत्री को ज्ञापन सौंपा - मुस्लिम समाज की विभिन्न समस्याओं और मांगों को लेकर मोमिन कांफ्रेंस का एक प्रतिनिधिमंडल अध्यक्ष शमीम अख्तर आजाद के नेतृत्व में शनिवार को ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम से मिला. प्रतिनिधिमंडल ने मंत्री को 17 सूत्रीय ज्ञापन सौंपा. उन्होंने राजधानी के चौक-चौराहों का नाम झारखंड के अमर शहीदों के नाम पर करने की मांग की. अमर शहीद शेख भिखारी और टिकैत उमरांव की शहादत स्थल चुटूपालु घाटी को पर्यटन स्थल के तौर पर विकसित करते हुए जोन्हा फॉल का नामकरण शहीदों के नाम पर करने की मांग की. 

अन्य खबरें