धुर्वा को स्मार्ट सिटी का स्वरूप देने की तैयारी, 656 एकड़ भूमि चयनित

Smart News Team, Last updated: 14/12/2020 01:51 AM IST
  • राजधानी रांची के धुर्वा एचटीसी क्षेत्र को स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित करने का निर्णय लिया गया है. इसके लिए इस इलाके की 656 एकड़ भूमि का चयन किया गया है. धुर्वा को स्मार्ट सिटी बनाने का नक्शा भी तैयार कर लिया गया है.
रांची के धुर्वा एचटीसी क्षेत्र को स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित करने का निर्णय लिया गया है(प्रतीकात्मक तस्वीर)

रांची . बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वकांक्षी स्मार्ट सिटी बनाने की योजना की सूची में झारखंड राज्य की राजधानी रांची शहर ही शामिल है. इसी रांची के धूर्वा के एरिया को स्मार्ट सिटी के रूप मैं विकसित किया जा रहा है. जिस कारण यहां पर जगह जगह निर्माण कार्य चल रहे हैं. धुर्वा को स्मार्ट सिटी के रूप में और विकसित करने के लिए कदम बढ़ा दिया गया है. इस क्रम में इस क्षेत्र की 656 एकड़ भूमि पर आधुनिक विकास कार्य कराए जाएंगे. 

इनमें 86.5 एकड़ भूमि पर आवासीय परिसर का निर्माण कराया जाएगा. इस क्षेत्र मैं 40 मीटर चौड़ी सड़कों का निर्माण कराया जाएगा. राजधानी रांची के विभिन्न चौक चौराहों को इस एरिया से जोड़ा जाएगा. इसके लिए स्मार्ट सिटी का नक्शा, आधुनिक कंट्रोल रूम और राजधानी रांची का कमांड सेंटर तैयार कर लिया गया है. इस कमांड सेंटर में बैठकर अधिकारी राजधानी के चप्पे-चप्पे पर निगाह रखेंगे. इसके लिए पूरे शहर में सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं.

ग्राहक कम आ रहे तो सैलून को बनाया कोरोना सेफ जोन

रांची के ट्रैफिक सिस्टम को भी ऐसी कमांड सेंटर से नियंत्रित करने की योजना बनाई गई है. यहां आधुनिक ट्रैफिक सिस्टम लगाया गया है जो ऑटोमेटिक है. यानी जिस सड़क पर वाहनों की भीड़ ज्यादा होगी उसे आवाजाही का ज्यादा समय मिलेगा. ट्रैफिक व्यवस्था को नियंत्रित करने के लिए पूरे राजधानी रांची में धोनी विस्तारित यंत्र भी लगाए गए हैं. स्मार्ट सिटी हेतु जो आवासीय परिसर का निर्माण कराया जाएगा उनमें वाणिज्यिक दफ्तर. 

फाइव स्टार होटल, रिटेल शॉपिंग मॉल, शॉपिंग सेंटर आदि का निर्माण पीपीपी मोड पर कराया जाएगा. इस एरिया में तकरीबन 15 हजार आवासी फ्लैट बनाए जाएंगे. हटिया डैम में अलग से आधुनिक वाटर ट्रीटमेंट प्लांट भी बनाया जाएगा. विद्युत आपूर्ति के लिए गैस आधारित आधुनिक बिजली घर घर का भी निर्माण कराया जाएगा. घरों से निकलने वाले दूषित जल को रिसाइकल करके फिर से इस्तेमाल करने लायक बनाने का प्लांट भी लगाया जाएगा. आवासों में स्मार्ट मीटर लगाए जाएंगे. यही नहीं स्मार्ट सिटी में आधुनिक पार्क भी विकसित किए जाएंगे इसके अलावा ठोस कचरा निष्पादन की व्यवस्था भी की जाएगी. रिवर फंड भी विकसित किया जाएगा.

MX प्लेयर पर रिलीज हुई 'आ जलेबी', रांची के अलग अलग हिस्सों में की गई शूटिंग

स्मार्ट सिटी के चार प्रवेश द्वार बनाए जाएंगे. पहला प्रवेश द्वार हटिया स्टेशन से 1 किलोमीटर की दूरी पर होगा. दूसरा प्रवेश द्वार एयरपोर्ट की तरफ बनाया जाएगा जो एयरपोर्ट से 2 किलोमीटर दूर होगा. इसी तरह दो अन्य प्रवेश द्वार भी बनाए जाएंगे. स्मार्ट सिटी घूमने आने वालों के मनोरंजन के लिए हर्बल सिविक टावर का भी निर्माण किया जा रहा है जिसकी लागत 191.64 करोड़ रुपए आएगी.

अन्य खबरें