राँची:शहर को स्वच्छता सर्वेक्षण में रैंकिंग देने की कवायद

Smart News Team, Last updated: 09/12/2020 11:41 PM IST
  • योजना में आने वाला पूरा खर्च यूएनडीपी द्वारा ही वहन किया जाएगा. इसके लिए दोनों संस्थाओं के बीच जल्दी एमओयू हो सकता है.प्लास्टिक कचरे का किया जाएगा प्रबंध.
फाइल फोटो

राँची . शहर की स्वच्छता रैंकिंग को और बेहतर बनाने की कवायद शुरू की जा चुकी है.इसके लिए रांची नगर निगम संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम जुड़ने वाला है.योजना में आने वाला पूरा खर्च यूएनडीपी द्वारा ही वहन किया जाएगा.इसके लिए दोनों संस्थाओं के बीच जल्दी एमओयू हो सकता है. बताया जा रहा है कि योजना के तहत रांची नगर निगम क्षेत्र में प्लास्टिक कचरा प्रबंधन की व्यवस्था की जाएगी. इसके तहत 54 वार्ड में कचरा प्रबंधन के लिए अलग व्यवस्था की जाएगी.

रांची नगर निगम में पहले से ही स्वच्छता सर्वेक्षण में रैंकिंग के सुधार हेतु प्रशासनिक अमला प्रयासरत है. इसके लिए कई योजनाओं को तैयार किया जा रहा है और कई योजनाओं पर काम भी चल रहा है. प्लास्टिक कचरे कौन कचरे सिंगल यूज प्लास्टिक पर रोक के बावजूद दूसरे प्रकार के प्लास्टिक जैसे पानी और कोल्ड ड्रिंक की बोतल, खाने पीने वाली सामग्रियों में इस्तेमाल होने वाले रैपर सहित अन्य सभी प्रकार के प्लास्टिक के कूड़े अब भी सबसे बड़ी समस्या बने हुए हैं. इसलिए अब इसके निस्तारण हेतु अलग से कार्ययोजना बनाई गई है.

अब फाइन आर्ट की शिक्षा देगा रांची विश्वविद्यालय

यह कचरा प्रबंधन अलग-अलग वार्डो में ही होगा . दरअसल, सभी वार्डों से प्लास्टिक कचरे को इकट्ठा कर दूसरे कचरे से अलग इसका निस्तारण किया जाएगा. इस तरह से प्लास्टिक कचरे व कौन कचरे को अलग करने हेतु सभी वार्ड में डस्टबिन की व्यवस्था की जाएगी.

रांची नगर निगम नगर आयुक्त मुकेश कुमार ने बताया कि नगर निगम की ओर से प्लास्टिक कचरा प्रबंधन के लिए अलग से व्यवस्था की जा रही है. इसकी पूरी योजना तैयार की गई है.बता दें कि संयुक्त राष्ट्र कार्यक्रम से जुड़ने के बाद शहर में योजनाओं को अच्छी व सुचारू ढंग से लागू किया जा सकेगा और स्वच्छता सर्वेक्षण में शहर की रैंकिंग में निश्चित तौर पर सुधार की उम्मीद की जा सकती है.

अन्य खबरें