सखी मंडल ने सुधारी सुशीला भी जिंदगी अब शराब नहीं जनरल स्टोर की दुकान

Smart News Team, Last updated: Fri, 6th Aug 2021, 12:46 PM IST
  • झारखंड सरकार की फूलों जानू आशीर्वाद योजना ने सुशीला की लाइफ स्टाइल में अमूल चूल परिवर्तन ला दिया है. पहले जहां सुशीला शराब और हरिया बेचकर अपना और अपने परिवार का भरण पोषण करती थी लेकिन अब सुशीला ने सरकारी इमदाद पाकर गांव में जनरल स्टोर की दुकान चलाकर खोया सम्मान प्राप्त कर लिया है.
सरकारी इमदाद पाकर गांव में जनरल स्टोर की दुकान चलाकर खोया सम्मान प्राप्त कर लिया है

रांची. राजधानी रांची के काके विकासखंड की ग्राम पंचायत कौन की की रहने वाली सुशीला देवी बताती है कि उनके पास इतनी जमीन नहीं थी कि वह खेती करके अपने परिवार की भूख शांत कर सके. मजबूरन उन्हें खेती के साथ ही शराब बेचनी पड़ती थी. बताती है कि इस गलीच काम में सभी प्रकार के लोगों से सामना होता था समाज में भी लोग बातचीत करने से कतराते थे.

सुशीला ने बताया कि पिछले साल सितंबर माह में उनका संपर्क नवजीवन की महिलाओं से हुआ और ग्राम संगठन की महिलाओं ने बताया कि सरकार द्वारा संचालित फूलों जानो आशीर्वाद योजना से जुड़ कर सरकारी मदद हासिल कर शराब का व्यवसाय छोड़कर अन्य व्यवसाय को भी अपनाया जा सकता है.

नवजीवन ग्राम संगठन की महिलाओं की बात सुशीला को खासी प्रभावित कर गई. उसी संगठन की महिलाओं के मदद से सुशीला झारखंड राज्य सरकार की ओर से संचालित फूलों जानो आशीर्वाद योजना से जुड़ गई. योजना के तहत सुशीला को प्रोत्साहन के साथ ही सहायता राशि भी प्राप्त हुई. उप योजना से पहले से ही जुड़ी सखी मंडल की महिलाओं के संपर्क में आने से सुशीला ने गांव में ही जनरल स्टोर की दुकान खोल ली. आज स्थिति यह है कि पूरा गांव सुशीला की दुकान से घरेलू खाने पीने का सामान खरीदना है. इससे सुशीला को अच्छी-खासी कमाई हो रही है और उसकी समाज में प्रतिष्ठा भी बढ़ रही है.

अन्य खबरें