Bhadrapada 2021: सूर्य देव के कुप्रभावों से बचना है तो, भाद्रपद रविवार के दिन इन कामों को करने से करें परहेज

Pallawi Kumari, Last updated: Sun, 29th Aug 2021, 6:56 AM IST
  • भाद्रपद रविवार का खास महत्व होता है. भाद्रपद रविवार में किए गए कामों का फल व्यक्ति को तुंरत मिलता है. इसलिए कुछ ऐसे काम होते हैं, जिन्हें रविवार के दिन करने से बचना चाहिए.
भाद्रपद रविवार के दिन न करें ये काम. फोटो सभार-लाइव हिन्दुस्तान

मान्यता है कि सृष्टि में सबसे पहले सूरयदेव प्रकट हुए इसलिए इन्हें आदित्य देव भी कहा जाता है. ब्रहमाण्ड के नौ ग्रहों में सूर्य सर्व प्रमुख देवता हैं. इसलिए सूर्यदेव की अराधना से निरोगी जीवन का वरदान मिलता है. सूर्य देव की उपासना करने वाले व्यक्ति के जीवन से बड़ा से बड़ा संकट टल जाता है और जीवन में उन्नति होती है. रविवार के दिन भगवान विष्णु और सूर्य देव की पूजा अराधना करने से मनचाहा फल मिलता है.

बात करें भाद्रपद महीने की तो, जिस प्रकार सावन में सोमवार का खास महत्व होता है. ठीक उसी तरह भाद्रपद महीने में रविवार के दिन का भी खास महत्व होता है. कहा जाता है भादो के महीने में भगवान विष्णु अपनी नींद पूरी करने के बाद जागते हैं. रविवार के दिन भगवान सूर्य और विष्णु की पूजा की जाती है. कहा जाता है कि इन दिन किए हर काम का फल मिवता है. 

जन्माष्टमी पर पढ़ना ना भूलें ये कृष्ण चालीसा, बाल गोपाल का मिलेगा आशीर्वाद

इसलिए ये जानना बेहद जरूरी हो जाता है कि रविवार के दिन कौन-कौन से ऐसे काम है, जिन्हें करने से बचना चाहिए. इन कामों का न कर कैसे सूर्य देव के कुप्रभावों से बचा जा सकता है. तो चलिए जानते हैं रविवार के दिन वो कौन से ऐसे काम हैं, जिन्हें न करने की सलाह दी जाती है.

रविवार के दिन सिर में तेल मालिश न करें.

रविवार के दिन लाबें से बने धातु ना खरीदें.

सूर्यास्त होने से पहले नमक का सेवन न करें.

इन दिन दूध जलाने का काम करने से भी परहेज करना चाहिए.

भादपद्र महीने के रविवार को बाल दाढ़ी ना बनाएं.

रविवार के दिन दंपति संभोग ना करें.

काले और गहरे नीले रंग का कपड़ा न पहनें.

Grahan 2021: कब पड़ेगा अगला सूर्य ग्रहण और चंद्र ग्रहण, जानें सूतक, टाइम और डेट

(इस लेख में दिए गए तथ्यों की सत्यता पर हम दावा नहीं करते. इसे अपनाने से पहले अपने विशेषज्ञ की सलाह लें)

अन्य खबरें