इन 7 अच्छी आदतों वाले इंसान पर मेहरबान होते हैं शनिदेव, हमेशा बना रहता है आशीर्वाद

Pallawi Kumari, Last updated: Sat, 9th Oct 2021, 8:03 AM IST
  • शनिदेव को न्याय का देवता कहा जाता है. वह अपने भक्तों के अच्छे कर्मों पर आशीर्वाद भी देते हैं और बुरे कर्मों के लिए दण्ड भी. लेकिन अगर आपमें ये 7 अच्छी आदतें हैं तो आप पर हमेशा ही शनिदेव की कृपा बनी रहेगी.
अच्छे काम करने वाले लोगों पर बनी रहती है शनिदेव की कृपा.

शनिवार का दिन भगवान शनिदेव की पूजा के लिए खास माना जाता है. दण्ड और आशीर्वाद देने के लिए ही शनिदेव को न्याय का देवता कहा जाता है. शनिदेव मनुष्य के कर्मों पर नजर रखते हैं. अच्छे कर्मों के लिए शुभ फल मिलता है तो वहीं बुरे कर्मों पर शनिदेव दण्ड भी देते हैं. कहा जाता है कि अगर किसी व्यक्ति पर भगवान शनिदेव की कृपा हो गई तो वह रंक से राजा बन जाता है. हरेक मनुष्य में कुछ न कुछ आदतें होती है. लेकिन परोपकारिता की कुछ अच्छी आदतें इस बात का संकेत देती है कि उस व्यक्ति पर शनिदेव की कृपा है या नहीं. आइये जानते हैं  अच्छी आदतों के बारे में , जिससे शनि देव प्रसन्न होते हैं.

दान करने वाले लोग- शनिदेव गरीब, असहाय और लाचार लोगों की मदद करने वाले व्यक्ति पर विशेष कृपा बरसाते हैं. इसके अलावा शनिवार के दिन गरीबों को आप उड़द की दाल, काले तिल, काले चने और कपड़े का दान निस्वार्थ भाव से जरूर करें.

नवरात्रि व्रत में कब क्या और कितना खाना है सबकुछ जान पाएंगे इन पांच ऐप के जरिए

सम्मान करने की आदत- कोई व्यक्ति आपसे छोटा हो या बड़ा उसका सम्मान करना चाहिए. वृद्ध माता-पिता और स्त्रियों का सम्मान करने वाले लोगों पर शनिदेव की कृपा होती है.

कुत्तों को खाना खिलाना- जो व्यक्ति रोजाना भूखे कुत्ते को खाना खिलाता है. उस व्यक्ति पर कभी भी शनिदेव का प्रकोप नहीं होता. वैसे भी जानवार बेजुबान होते हैं और हर बेजुबान जानवारों को खाना खिलाना अच्छी आदत होती है.

पीपल-बरगद की पूजा- पीपल और बरगद पेड़ की पूजा करने की प्रथा वर्षों से चली आ रही है. शनिवार के दिन पीपल और बरगद पेड़ की पूजा करने के शनिदेव अपनी कृपा उस व्यक्ति पर बनाए रखते हैं.

छतरी का दान- जो व्यक्ति काले छाते व छतरी का दान करता हबै शनिदेव उस व्यक्ति से प्रसन्न होते हैं. ऐसे आदतें वाले व्यक्ति को शनिदेव के आशीर्वाद से धन और यश की प्राप्ति होती है.

शिव और बजलंगबली की पूजा- शनिदेव के साथ ही जो व्यक्ति भोलेनाथ और बजरंगबली की पूजा करता है शनिदेव हमेशा ही मुश्किल परिस्थिकि में उसके साथ रक्षक बनकर खड़े होते हैं.

पितरों का श्राद्ध- अपने पूर्वज व पितरों का श्राद्ध करने वाले लोगों पर शनिदेव की कृपा बनी रहती है. इसलिए हर साल पितृ पक्ष में अपने पितरों का श्राद्ध कर उनका तर्पण जरूर करें.

पटना: पूजा पंडाल में इस बार दिखेगी थाईलैंड के याकोचीमा मंदिर की झलक, मूर्ति को लेकर भक्तों में उत्साह

अन्य खबरें